सैन फ्रांसिस्को : अपने स्मार्टफोन मॉडेम चिप व्यवसाय को ऐप्पल को बेचने के महीनों बाद, इंटेल ने कहा है कि चिपसेट बनाने वाली कंपनी क्वालकॉम के व्यवसाय करने के तरीकों ने उसे मॉडेम चिप बाजार से बाहर कर दिया।

इंटेल ने फेडरल ट्रेड कमिशन (एफटीसी) का समर्थन करते हुए एक संक्षिप्त अर्जी दायर की है और क्वालकॉम के खिलाफ मई में पारित किए गए फैसले पर उसके द्वारा दायर अपील का भी विरोध किया है। क्वालकॉम पर कैलिफोर्निया के उत्तरी जिला स्थित अमेरिकन जिला न्यायालय ने फैसला सुनाया था।

अदालत ने पाया, "क्वालकॉम की लाइसेंसिंग पद्धति ने सीडीएमए और प्रीमियम एलटीई मॉडेम चिप बाजारों में वर्षों से प्रतिस्पर्धा की है और प्रतिद्वंद्वियों, ओईएम व उपभोक्ताओं को नुकसान पहुंचाया है।"

अदालत ने यह भी पाया कि क्वालकॉम का तरीका प्रतिस्पर्धा को नष्ट करने के लिए गलत तरीके से पेश किया गया।

इसे भी पढ़ें :

स्मार्टफोन को पोर्टेबल एआर डिवाइस में बदल देगा यह सॉफ्टवेयर

बिना चार्ज किए ही शाओमी स्मार्टफोन में लगी आग, फ्लिपकार्ड पर किया था ऑर्डर

इंटेल के जनरल वकील स्टीवन रॉजर्स ने शुक्रवार को एक पोस्ट में लिखा, "इंटेल जिला न्यायालय के निष्कर्षों से सहमत है। इंटेल को क्वालकॉम के एंटीकम्पिटिटिव व्यवहार का खामियाजा भुगतना पड़ा और इसे मॉडेम बाजार में अवसरों से वंचित कर दिया गया।"

कैलिफोर्निया हेडक्वार्टर फर्म ने इस बात को भी स्पष्ट किया कि उसने अपने स्मार्टफोन मॉडेम चिप व्यवसाय को ऐप्पल को अरबों डॉलर के नुकसान पर बेचना पड़ा।

ऐप्पल ने जुलाई में चिप बनाने वाले इंटेल के स्मार्टफोन मॉडेम व्यवसाय को एक अरब डॉलर में खरीदने की घोषणा की थी। उस समय करीब 2,200 इंटेल कर्मचारियों को ऐप्पल में शामिल होने के लिए भी कहा गया था।