नई दिल्ली : त्योहारी सीजन पर ऑनलाइन बिक्री, नए मॉडलों की पेशकश तथा कुछ ब्रांड द्वारा कीमतों में कमी से देश में जुलाई-सितंबर तिमाही में स्मार्टफोन की बिक्री 9.3 प्रतिशत बढ़कर रिकॉर्ड 4.66 करोड़ इकाई पर पहुंच गई। अनुसंधान कंपनी आईडीसी ने यह जानकारी दी है।

आईडीसी के अनुसार इससे पिछली तिमाही अप्रैल-जून की तुलना में समीक्षाधीन तिमाही में स्मार्टफोन की बिक्री 26.5 प्रतिशत बढ़ी है। आईडीसी का अनुमान है कि 2019 में स्मार्टफोन बाजार में मध्यम से उच्च एक अंकीय वृद्धि रहेगी।

आईडीसी इंडिया के शोध निदेशक (क्लाइंट डिवाइस और आईपीडीएस) नवकेंदर सिंह ने कहा कि इस वृद्धि को इस रूप में लिया जा सकता है कि उपभोक्ता में धारणा काफी मजबूत बनी हुई थी लेकिन वह सहनशील बना हुआ था दूसरी तरफ वर्ष की आखरी तिमाही में कम बिक्री भी इसकी वजह रही है। सिंह ने कहा, ‘‘ऑनलाइन खिलाड़ियों का आक्रामक रुख ऑफलाइन माध्यमों के लिए एक बड़ी चुनौती बना हुआ है, जो आज भी देश में स्मार्टफोन का सबसे बड़ा ‘चैनल' है। उन्होंने कहा कि इन सब कारणों से संकेत मिलता है कि अगली तिमाही में वृद्धि दर सुस्त रहेगी। कुल मोबाइल फोन बाजार में फीचर फोन का हिस्सा 43.3 प्रतिशत है।

इसे भी पढ़ें :

Amazon पर शुरू होगा Great Indian Festival Celebration, इस दिन से शुरू हो रही सेल

स्मार्टफोन को पोर्टेबल एआर डिवाइस में बदल देगा यह सॉफ्टवेयर

सितंबर तिमाही में फीचर फोन की बिक्री सालाना आधार पर 17.5 प्रतिशत घटकर 3.56 करोड़ इकाई रही। तिमाही के दौरान 4जी अनुकूल फीचर फोन की बिक्री 20.3 प्रतिशत घट गई, जबकि 2जी और 2.5 जी बाजार में 16.2 प्रतिशत की गिरावट आई।

आईडीसी इंडिया की एसोसिएट शोध प्रबंधक (क्लाइंट डिवाइस) उपासना जोशी ने कहा कि आनलाइन मंचों द्वारा आकर्षक कैशबैक और बायबैक तथा बिना ब्याज की मासिक किस्त की सुविधा जैसी आक्रामक रणनीति से आनलाइन बाजार की हिस्सेदारी बढ़कर 45.4 प्रतिशत के उच्चस्तर पर पहुंच गई। इसमें सालाना आधार पर 28.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

आईडीसी ने कहा कि ऑफलाइन माध्यमों के समक्ष लगातार चुनौती बनी हुई है। तीसरी तिमाही में उनकी बिक्री में 2.6 प्रतिशत की गिरावट आई।