मुंबई : रिलायंस जियो ने अपने उपभोक्ताओं को एक झटका दिया है। जियो ने फैसला किया है कि वह अपने उपभोक्ताओं से अन्य कंपनियों के नेटवर्क पर कॉल के लिये छह पैसे प्रति मिनट का शुल्क लेगी। अभी तक जियो से किसी भी कंपनी के नेटवर्क पर कॉल करने का कोई शुल्क नहीं लगता था। कॉल बिल्कुल फ्री होती थी।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, जियो अन्य कंपनियों के नेटवर्क पर कॉल के लिये छह पैसे प्रति मिनट का शुल्क लेगी। जबकि इसकी भरपाई मुफ्त डेटा देकर करेगी। इस बारे में अभी विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है।

फोन कॉल की घंटी की अवधि पर ट्राई की दखल के खिलाफ है जियो

रिलायंस जियो ने भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) से मोबाइल फोन कॉल की घंटी की अवधि तय करने के बारे में कोई व्यवस्था न देने का आग्रह किया है। कंपनी का कहना है इसको सेवा प्रदाताओं पर छोड़ दिया जाना चाहिए क्योंकि इस मामले में ‘नियामकीय हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है।'

जियो ने कहा है कि ट्राई इस मामले पर यदि कुछ कहना भी चाहता है तो वह ‘संदर्भ के लिए एक दिशानिर्देश' के रूप में होना चाहिए और यह ‘अनिवार्य निर्देश के रूप में नहीं होना चाहिए।' ट्राई इस बारे एक परिचर्चा पत्र जारी कर अपना विचार तय करने वाला है।

जियो ने अपने नेटवर्क से की जाने वाली कॉल की घंटी की अवधि कम कर दी है। उसकी प्रतिद्वंद्वी भारती एयरटेल ने इसकी आलोचना करते हुए कहा कि यह कॉल करने वाले ग्राहकों की सुविधा के खिलाफ है।

जियो ने कहा है कि ट्राई चाहे तो 20 से 25 सेकेंड के रिंग (घंटी) की सिफारिश कर सकता है, लेकिन एयरटेल का कहना है कि इसका एक मानक स्तर होना चाहिए। उसकी राय में काल खत्म होने वाले एक्सचेंज पर घंटी की अवधि 45 सेकेंड और उद्गम एक्सचेंज पर यह 75 सेकेंड की होनी चाहिए।

वोडाफोन-आइडिया ने इसे कम से कम 30 सेकेंड रखने का सुझाव दिया है। उसका कहना है कि प्राय: दुनियाभर में फोन की घंटी का समय इसी दायरे में होता है। जियो का कहना है कि यदि काल का जवाब दिया जाना होता है तो वह 15 सेकेंड के अंदर हो जाता है।