नई दिल्ली : डिजिटल भुगतान सेवा देने वाली कंपनी पेटीएम इस साल अपनी पेटीएम क्यूआर सेवा के विस्तार पर 250 करोड़ रुपये खर्च करेगी। कंपनी ने बुधवार को कहा कि इससे वह अपनी इस सेवा को चौथे और पांचवी श्रेणी के शहरों में विस्तारित करेगी।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि इस निवेश से उसे चालू वित्त वर्ष के अंत तक देशभर में दो करोड़ दुकानदारों/मर्चेंट से अधिक तक पहुंच बनाए जाने की उम्मीद है। पेटीएम ने दुकानदारों के लिए क्यूआर कोड आधारित भुगतान सेवा शुरू की है। इसके माध्यम से वह सीधे अपने बैंक खाते में भुगतान को प्राप्त कर सकते हैं।

कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दीपक एबॉट ने कहा कि अभी देश में पेटीएम क्यूआर के माध्यम से 1.2 करोड़ दुकानदार भुगतान स्वीकार कर रहे हैं। इसमें अधिकतर बड़े शहरों के दुकानदार हैं। कंपनी की योजना देशभर में अजमेर, बेकगांव, कर्नूल, रोहतक और लातूर जैसे छोटे से छोटे शहरों के दुकानदार तक पहुंचने की है।

ये भी पढ़ें: ‘Paytm’ यूजर्स के लिए बड़ी खुशखबरी,  अब 11 भाषाओं में कर सकते हैं इस्तेमाल

पेटीएम की मातृ कंपनी वन97 कम्यूनिकेशंस ने एक अलग बयान में कहा कि उसके पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी पेटीएम मनी को अपने मंच पर ‘राष्ट्रीय पेंशन योजना-एनपीएस' की पेशकश करने के लिए पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) से अनुमति मिल चुकी है। अब पेटीएम मनी पर पंजीकृत निवेशक एनपीएस में निवेश करने में सक्षम होंगे।