सैन फ्रांसिस्को : सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स की अगुवाई में वैश्विक सेमीकंडक्टर कंपनियों के राजस्व में साल 2018 में साल-दर-साल आधार पर 13.4 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की है, जो कि 476.7 अरब डॉलर रही। मार्केट रिसर्च फर्म गार्टनर द्वारा सोमवार को जारी किए प्रारंभिक नतीजों से यह जानकारी मिली है।

राजस्व के हिसाब से दुनिया की 10 प्रमुख सेमीकंडक्टर कंपनियों में सैमसंग के बाद इंटेल, एसके हायनिक्स, माइक्रोन टेक्नॉलजी, ब्रॉडकॉम, क्वालकॉम, टेक्सास इंस्ट्रमेंट्स, वेस्टर्न डिजिटल, एसटी माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स और एनएक्सपी सेमीकंडक्टर्स शामिल रही।

गार्टनर के उपाध्यक्ष (विश्लेषक) एंड्रयू नॉरवुड ने एक बयान में कहा, "सबसे बड़े सेमीकंडक्टर आपूर्तिकर्ता सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स को डायनेमिक रैंडम-एक्सेसे मेमोरी (डीआरएएम) बाजार में आई जोरदार तेजी का फायदा हुआ है।"

यह भी पढ़ें :

श्याओमी से अलग होगी रेडमी, 10 जनवरी को लॉन्च करेगी पहला स्मार्टफोन

GDP दर 7.2% रहने का अनुमान, बीते साल के मुकाबले 0.5% बढ़त का अनुमान

सेमीकंडक्टर श्रेणी में मेमोरी की बिक्री सबसे अधिक हुई, जोकि कुल सेमीकंडक्टर राजस्व का 34.8 फीसदी रहा, जोकि साल 2017 की तुलना में 31 फीसदी अधिक है।

शीर्ष 25 सेमीकंडक्टर कंपनियों के संयुक्त राजस्व में साल 2018 में 16.3 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई, जोकि कुल बाजार का 79.3 फीसदी हिस्सा है, जिसमें 3.6 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई। बीते साल जिन मेमोरी कंपनियों ने शानदार प्रदर्शन किया, उनमें एसके हाइनिक्स और माइक्रोचिप टेक्नोलॉजी शीर्ष पर रहे।

-आईएएनएस