सेंट फ्रांसिस्को: वर्ल्ड की सबसे मशहूर टेक्नोलॉजी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला की इंक्रीमेंट में इस साल जबरदस्त इजाफा हुआ है। नडेला के वेतन-भत्ते एक साल में 66% की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। 30 जून को खत्म माइक्रोसॉफ्ट के वित्त वर्ष (2018-19) में नडेला को कुल 4.29 करोड़ डॉलर का कंपेनसेशन मिला। ये भारतीय मुद्रा के 300 करोड़ रुपए के बराबर है।

बीते 16 अक्टूबर को माइक्रोसॉफ्ट के ओर से जारी की गई एनुअल प्रॉक्सी स्टेटमेंट से उनकी सैलरी का लेखाजोखा सामने आया है। कहा जा रहा है कि सत्या नडेला ने अपने सभी बिजनेस टारगेट अचीव कर लिए हैं। यही नहीं कंपनी के शेयरों में भी इजाफा हुआ है।

कारोबारी लक्ष्य हासिल करने और कंपनी के शेयर की कीमत बढ़ने की वजह से बोर्ड ने नडेला के कंपेनसेशन में बढ़ोतरी का फैसला लिया। हालांकि, यह 2014 के कंपेनसेशन की तुलना में करीब आधा है। उस साल नडेला को 8.43 करोड़ डॉलर मिले थे। नडेला की मौजूदा नेटवर्थ 2100 करोड़ रुपए होने का अनुमान है।

इसे भी पढें

अमेरिका में बजता है इन भारतीयों का डंका, किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं इनकी Life

स्टॉक कंपेनसेशन की समीक्षा करते हुए माइक्रोसॉफ्ट के स्वतंत्र निदेशकों ने नडेला के रणनीतिक नेतृत्व- ग्राहकों के साथ भरोसा मजबूत करने, कंपनी के तौर-तरीकों में बदलाव, नई तकनीक और नए बाजारों में सफलतापूर्वक एंट्री और विस्तार का खौस तौर से जिक्र किया।

5 साल में कंपनी को हुआ 509 अरब डॉलर का इजाफा

माइक्रोसॉफ्ट की ओर से कहा गया कि नडेला के नेतृत्व में पिछले 5 साल में कंपनी के मार्केट कैप में 509 अरब डॉलर का इजाफा हुआ। इस दौरान कंपनी का टोटल शेयरहोल्डर रिटर्न 97% बढ़ा। इससे नडेला की आय भी बढ़ी।

माइक्रोसॉफ्ट पिछले साल एपल को पीछे छोड़ दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली कंपनी भी बनी थी। माइक्रोसॉफ्ट का मौजूदा मार्केट कैप 1072 अरब डॉलर और एपल का 1059 अरब डॉलर है।