नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गठित केन्द्र की नयी सरकार के पहले बजट की तैयारियां शुरू हो गई हैं। वित्त मंत्रालय में शनिवार को परंपरागत हलवा रस्म के साथ वित्त वर्ष 2019-20 के बजट दस्तावेजों के प्रकाशन की शुरुआत हो गई।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और वित्त मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों की उपस्थिति में नॉर्थ ब्लॉक में हलवा रस्म का आयोजन किया गया। वित्त मंत्रालय की एक आधिकारिक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है। आम चुनाव के बाद नवगठित संसद के 17 जून से शुरू हुये पहले सत्र में ही पांच जुलाई को 2019-20 का पूर्ण बजट पेश किया जायेगा।

पिछली सरकार ने आम चुनाव की घोषणा होने से पहले एक फरवरी को 2019- 20 का अंतरिम बजट पेश किया था। बजट की गोपनीयता को बनाए रखने के लिए बजट प्रक्रिया में शामिल अधिकारियों को बजट पेश होने तक वित्त मंत्रालय के दफ्तर ‘नॉर्थ ब्लॉक' में ही रहना होता है। बजट बनाने की प्रक्रिया के दौरान उन्हें अपने परिजनों तक से बातचीत करने अथवा मिलने की अनुमति नहीं होती है।

इसे भी पढ़ेें

रक्षा बजट 2019: पहली बार तीन 3 लाख करोड़, आधुनिकीकरण व हथियारों की खरीद पर जोर

इतना ही नहीं बजट दस्तावेजों को छापने का काम भी नॉर्थ ब्लॉक में बने छापेखाने में ही किया जाता है। हलवा समारोह के दौरान सीतारमण और ठाकुर के अलावा वित्त सचिव एस. सी. गर्ग, राजस्व सचिव अजय भूषण पांडे, वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार और निवेश और लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव अतनु चक्रवर्ती समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे। हलवा रस्म के बाद सीतारमण ने छापेखाने का भी दौरा किया।