नई दिल्ली: भ्रष्टाचार को जड़ से मिटाने के लिए केंद्र सरकारने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर दिए हैं। सरकार के इस फैसले से रियल इस्टेट सेक्टर पर बड़ा असर पडने वाला है।

जो लोग नया घर खरीदने की सोच रहे हैं उनके लिए यह खुश खबर है। मोदी सरकार के इस फैसले से आने वाले दिनों में घरों और जमीन की कीमतों में बड़े पैमाने पर गिरावट आ सकती है।

रीयल एस्‍टेट सेक्‍टर बड़े पैमाने पर काले धन के उपयोग के लिए जाना जाता है। सरकार के इस कदम से इस सेक्‍टर में पारदर्शिता को बढ़ावा मिलेगा।

अपने काले धन को सफेद करने के लिए कईं लोग या तो घर खरीदते हैं या फिर जमीन। निवेशक अब अपना कैश रीयल एस्‍टेट सेक्‍टर में नहीं खपा सकेंगे। इसकी वजह से बिल्‍डरों को प्रॉपर्टी कम कीमत पर बेचनी पड़ेगी।

नोटबंदी के बाद सरकार ने 500 और 1000 रुपये के नोट बैंक में डिपॉजिट करने को कहा हैं। अब तक बैंक में 3 लाख करोड से ज्यादा राशि जमा हो चुकी है। इस वजह से ब्याज दर में बडी कटौती होगी। इससे होमलोन सस्ता हो जाएगा और आम आदमी का घर खरीदने का सपना पूरा होगा।