हैदराबाद : भारतीय फिल्म संगीत के मशहूर संगीतकार खय्याम अब हमारे बीच नहीं रहे। उनके निधन से हिंदी सिनेमा में शोक की लहर है। खय्याम साहब का पूरा नाम मोहम्मद जहूर खय्याम हाशमी जिनका जन्म 18 फरवरी 1927 को पंजाब के जालंधर जिले के नवाब शहर में हुआ था।

चार भाई और एक बहन के परिवार में पले बढ़े खय्याम की पूरी तालीम कविता और संगीत के माहौल में हुई थी । इसके बाद उन्होंने अपनी संगीत की तालीम उस दौर के मशहूर संगीतकार पंडित खुशीलाल भगतराम और पंडित अमरनाथ से हासिल की और उनसे मिले। हुनर और कला के बदौलत अपने चार दशक के फिल्मी करियर में कई अवॉर्ड जीते और उनको भारत सरकार ने पद्म भूषण से भी नवाजा।

खय्याम की तबीयत आजकल ठीक नहीं चल रही है और उन्हें गंभीर हालत में आईसीयू में भर्ती कराया गया है, जहां पर उनकी देखभाल उनके ट्रस्ट के सर्वे सर्वा और गजल गायक तलत अजीज और उनके परिवार के लोग कर रहे हैं।

आपको पता नहीं कि खय्याम ने अपनी पूरी संपत्ति खय्याम प्रदीप जगजीत चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम दान कर दी है और ₹120000000 की इस संपत्ति से एक ट्रस्ट बनाया है, जो जरूरतमंद लोगों के साथ-साथ उबरते हुए संगीतकारों के लिए मदद करने का काम करेंगे।

बताया जाता है कि वैसे तो खय्याम साहब 1947 से ही अपने संगीत के सफर को शुरू किया था, लेकिन उनको 1958 में रिलीज हुई फिर सुबह होगी से पहचान मिली, जिसमें उन्होंने साहिर लुधियानवी के बोलों पर राज कपूर की फिल्म के लिए अपना संगीत दिया था।

इसके बाद 60 के दशक में आई उनकी फिल्में शोला और शबनम उत्पात और आखरी खत ने तो गजब का कमाल किया इनके गाने आज भी लोगों की यादों में गूंजते रहते हैं।

इसे भी पढ़ें :

मशहूर संगीतकार खय्याम की बिगड़ी तबीयत, ICU में भर्ती

70 के दशक में यश चोपड़ा के साथ आई फिल्म कभी-कभी के, कई गाने आज भी लोग गुनगुना या करते हैं इसके बाद 1980 में आई फिल्म थोड़ी सी बेवफाई से और बाजार में भी उनके संगीत को सराहा गया।

फिल्मों के अलावा खय्याम साहब ने मीना कुमारी की उर्दू शायरी, ‘आई राइट, आई रिसाइट’ के लिए भी संगीत दिया जिन्हें आप आज भी सुनना पसंद करेंगे। खय्याम साहब के संगीत के क्षेत्र में दिए गए योगदान के लिए 2010 में लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से नवाजा गया साची साल 2011 में भारत सरकार ने उन्हें पद्मभूषण दिया।

आज वह बीमारी की हालत में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। ऐसे में हम दुआ करते हैं कि खय्याम साहब जल्द से जल्द स्वस्थ हो जाएं और उभरने वाले संगीत के सितारों की मदद करते रहे।