आज भी स्वतंत्रता दिवस या गणतंत्र दिवस पर जब देशभक्ति के गाने बजते हैं तो उनमें सबसे ज्यादा गाने मनोज कुमार के ही होते हैं।

खास बात यह भी है कि मनोज कुमार फिल्मों में ज्यादातर अपना नाम भी भारत ही रखते थे तभी उनका नाम भी भारत कुमार ही पड़ गया। इससे उनका देश के प्रति प्रेम भी जाहिर होता है।

शायद ही कोई ऐसा हो जिसने उनकी शहीद फिल्म न देखी, शहीद में उनका भगतसिंह का रोल कोई भुला नहीं सकता। इसके बाद भी भगतसिंह पर कई फिल्में बनी और कई अभिनेताओं ने यह रोल निभाया पर मनोज कुमार के अभिनय को दूसरा कोई कलाकार छू भी नहीं पाया।

यही तो उनके शानदार अभिनय का कमाल था जो किसी दूसरे कलाकार के बस की बात नहीं थी।

मनोज कुमार का जन्मदिन 24 जुलाई को होता है। वैसे मनोज कुमार का असली नाम हरिकिशन गिरी गोस्वामी है। उनका जन्म पाकिस्तान के अबोटाबाद में हुआ था।

फिल्म शहीद में मनोज कुमार
फिल्म शहीद में मनोज कुमार

कहा जाता है कि मनोज कुमार दिलीप कुमार के बड़े फैन थे और जब बचपन में पढ़ाई के दौरान उन्होंने दिलीप कुमार की शबनम फिल्म देखी तो उसमें दिलीप कुमार के अभिनय से प्रभावित होकर फिल्म में उनके किरदार के नाम पर ही अपना नाम मनोज कुमार रख लिया। यह थी उनकी दिलीप कुमार के प्रति दीवानगी।

दिलीप कुमार के साथ मनोज कुमार
दिलीप कुमार के साथ मनोज कुमार

मनोज कुमार ने 1957 में फैशन नामक फिल्म से अपने करियर की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने कई हिट फिल्में दी। 60 के दशक तक आते-आते मनोज कुमार ने गुमनाम, वो कौन थी, पत्थर के सनम जैसी हिट फिल्मों की झड़ी लगा दी।

मनोज कुमार की फिल्म शहीद ने आम लोगों को ही नहीं बल्कि तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी पसंद आई थी। शास्त्री जी ने ही उन्हें जय जवान, जय किसान पर फिल्म बनाने की बात कही थी।

फिल्म उपकार में मनोज कुमार
फिल्म उपकार में मनोज कुमार

मनोज कुमार ने ये बात मानी और उसी नारे पर फिल्म उपकार बना दी। इस फिल्म के बाद से ही उन्हें इंडस्ट्री में भारत कुमार के नाम से पुकारा जाने लगा। इस फिल्म के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड से भी नवाजा गया था।

मनोज कुमार
मनोज कुमार

जिस समय सभी अभिनेता रोमांटिक छवि की फिल्में करना पसंद करते थे उस समय मनोज कुमार ने हिन्दी सिनेमा का रूख देशभक्ति की तरफ किया और देश के युवाओं तक देशभक्ति को एक नए रूप में पेश किया।

अभिनेता मनोज कुमार उर्फ भारत कुमार अपनी फिल्मों में उन्होने भारतीयता की खोज की और यह भी बताया कि देशप्रेम और देशभक्ति क्या होती है।

फिल्म पूरब और पश्चिम में सायरा बानो के साथ मनोज कुमार
फिल्म पूरब और पश्चिम में सायरा बानो के साथ मनोज कुमार

भारतीय फिल्म जगत में मनोज कुमार ने पैसा से ज्यादा नाम कमाया और आज भी इनकी फिल्में उनके अभिनय के कारण नहीं बल्कि अपनी फिल्मों की कथावस्तु के कारण याद आती हैं।

क्रांति, पूरब और पश्चिम, उपकार, शहीद जैसी फिल्में बनाकर उन्होंने भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में अपनी एक अलग ही जगह बना ली। इतना ही नहीं उनकी फिल्मों के गाने भी फिल्मों की जान हुआ करते थे, इसीलिए तो उन गानों को आज भी सुना जाता है।

फिल्म क्रांति में मनोज कुमार 
फिल्म क्रांति में मनोज कुमार 

अभिनेता मनोज कुमार को बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में एक ऐसे कलाकार के तौर पर जाना जाता है जिन्होंने फिल्म निर्माण की प्रतिभा के साथ-साथ निर्देशन, लेखन, संपादन और बेजोड़ अभिनय से भी दर्शकों के दिलों में अपनी खास पहचान बनाई है।

इसे भी पढ़ें :

रिलेशन में रह चुकी हैं सोनाक्षी सिन्हा, इस सेलिब्रिटी को किया था डेट

मनोज कुमार को उनके फिल्मी करियर में 7 फिल्मफेयर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। इन सबके साथ ही फिल्मी क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए उन्हें साल 2002 में पद्मश्री पुरस्कार और साल 2016 में दादा साहब फाल्के अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया है।