सिनेमा में ‘मानसून’ बना किरदार, एक-एक सीन ने दिलों को इस तरह छुआ

कान्सेप्ट फोटो  - Sakshi Samachar

हैदराबाद : बारिश के बिना बॉलीवुड में रोमांस अघूरा ही है चूंकि जब-जब बिजली चमकी है तब-तब दिल धड़का है। बॉलीवुड में कई ऐसे गाने है जिसमें बारिश ने एक अहम भूमिका निभाई और रोमांस को चार चांद लगाए हैं। ऐसे में आपको बताते है कुछ गाने जिसमें बारिश न होती तो रोमांस में मीठास न होती...

प्यार हुआ इकरार हुआ है (श्री420), एक लड़की भीगी भागी सी (चलती का नाम गाड़ी), रिमझिम गिरे सावन (मंजिल), आज रपट जाएं तो (नमक हलाल), लगी आज सावन की फिर वो झड़ी ( 1942- अ-लव स्टोरी), ये बारिश है बूंदों की (फना) सहित कई ऐसे गाने है जो बारिश के बिना अधूरे है।

फिल्मी डायलॉग्स का मानसून कनेक्शन

गानों के अलावा ऐसे डायॉग्स भी है जिनमें बारिश मानसून का जिक्र है। ऐसे में एक नजर ऐसे ही कुछ डायलॉग्स पर जो बारिश या मानसून के बिना अधूरे होते। किसी डायलॉग में प्यार दिखा तो किसी में टकरार...

फिल्म राज : शाम है, बारिश है, प्यार का मौसम है... कुन लेने दे हवा में फैले हुए संगीत को... आग है, तड़प है, बेबसी का आलम है। कह लेने दे कुछ बिछड़े हुए मीत को।

- हमको दीवाना कर गये : कहते हैं बारिश के बाद की धूम बहुत खूबसूरत होती है।

- नमक हराम : बारिश की बूंदों से डरने वाले तूफान का मुकाबला नहीं कर सकते।

- बागी : अगर तेरा मेरा कोई कनेक्शन है, तो अगली बार जब बारिश होगी .. हम आप मिल जाएंगे।

- फिल्म राज : कबसे इस प्यासी जमीन पर बारिश की एक बूंद तक नहीं गिरी थी, पर आज यहां तूफान आएगा।

- बाजी राव मस्तानी : आंधी रोके तो हम तूफान, तूफान रोके तो हम आग का दरिया...

बारिश और सीन्स :

बॉलीवुड में बारिश के बिना भी कुछ सीन्स अधुरा ही रह जाता है। वैसे तो बारिश ने कई फिल्मों में अहम किरदार निभाया है। लेकिन कुछ ऐसे सीन्स है जो बारिश के बिना अधूरे है। चूंकि बारिश के चलते ही वो सीन्स आइकॉनिक बन पाए। बारिश न होती तो लार्जर देने लाइफ न होते ये सीन्स....

फिल्म काला : अंधेरी रात, गरजते बादल, तेज बारिश और हाथ में छाता लेकर विलेन से लड़ता हीरो। यह है फिल्म काला का सीन, जिसमें रजनीकांत ने अपने स्वैग के साथ विलेन की पिटाई की। यह सीन मुंबई के मरीन ड्राइव पर शॉट हुआ था जिसपर दर्शकों ने जोरदार ताली बजाई थी।

फिल्म कागज : गुरु दत्त की इस फिल्म में एक बारिश का सीन था। जिसमें गुरु दत्त वहीदा रहमान को देखते हैं जो एक पेड़ के नीचे खड़ी थीं। बारिश के चलते वहीदा कांप रही होती है। उसको देखकर गुरू दत्त उनके पास जाते हैं और कहते हैं कि आप अपना गर्म कोर्ट क्यों नहीं लाईं, तब वहीदा कहती है जुकाम मुफ्त में मिलता है, गर्म कोर्ट के पैसे लगते हैं।

फिल्म गाइड : देव आनंनद और वहीदा रहमान स्टारर फिल्म गाइड में एक सीन ता जब बारिश के लिए गांव के लोग प्रार्थन करते हैं। जिसके बाद अचानक बारिश होती है और वहीदा दौड़ते हुए देव आनंद को मंदिर के पास बीगे हुए मिलते हैं।

दिल से : मणिरत्नम की फिल्म 'दिल से' में शाहरुख खान और मनीषा कोईराला ने दमदार एक्टिंग की थी । इस फिल्म में भी एक सीन बारिश में शूट हुआ । सीन में शाहरुख अपनी सिगरेट जलाने के लिए लाइटर ढूंढते हैं । तभी उन्हें एहसास होता है कि उनके पास कोई खड़ा है । हवा के झोके से मनीषा कोईराला के बाल उड़ते हैं और उनका चेहरा दिखता है । मनीषा को देखते ही फिल्म के किरदार अमर यानी शाहरुख को उनसे प्यार हो जाता है ।

Advertisement
Back to Top