मुंबई : अभिनेता आशीष विद्यार्थी की पहचान बॉलीवुड में एक ऐसे विलेन के तौर पर है, जो पर्दे पर किरदार को जीवंत बना देते हैं। आशीष विद्यार्थी अब तक करीब 182 फिल्मों में मौत का सीन फिल्मा चुके हैं, लेकिन क्या आपको मालूम है कि एक बार वह मरते-मरते बचे थे। क्या हुआ था उस दिन आइए जानते हैं।

आज आशीष विद्यार्थी का जन्मदिन है। 19 जून 1962 को नई दिल्ली में उनका जन्म हुआ था। वह आज 57 साल के हो गए हैं। आशीष के पिता मलयाली और मां बंगाली हैं। आशीष को एक्टिंग विरासत के तौर पर मिली थी, क्योंकि उनके पिता मशहूर थिएटर आर्टिस्ट थे, जबकि उनकी मां मशहूर कत्थक डांसर थीं।

अभिनेता आशीष विद्यार्थी (सौ. सोशल मीडिया)
अभिनेता आशीष विद्यार्थी (सौ. सोशल मीडिया)

उनकी पहली फिल्म द्रोहकाल थी, जिसमें उन्होंने सपोर्टिंग रोल किया था। इस रोल के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।

अभिनेता आशीष विद्यार्थी (सौ. सोशल मीडिया)
अभिनेता आशीष विद्यार्थी (सौ. सोशल मीडिया)

आशीष ज्यादातर फिल्मों में विलेन के तौर पर ही नजर आए हैं। जनता उनका यह रूप पसंद भी करती हैं। बताया जाता है कि विलेन की भूमिका निभाने की वजह से उन पर मौत के करीब 182 सीन फिल्माए जा चुके हैं।

अभिनेता आशीष विद्यार्थी (सौ. सोशल मीडिया)
अभिनेता आशीष विद्यार्थी (सौ. सोशल मीडिया)

बताया जाता है कि साल 2014 में आशीष 'बॉलीवुड डायरी' की शूटिंग के दौरान छत्तीसगढ़ के दुर्ग में थे। वह यहां महमरा एनीकट पर शूटिंग कर रहे थे, तभी उनके साथ एक दुर्घटना घटी। आशीष शूटिंग के दौरान यहां डूबते-डूबते बचे थे। दरअसल सीन के मुताबिक, उन्हें पानी में उतरना था। उन्हें पानी का अंदाज नहीं मिला और गहरे पानी में चले गए, जिसकी वजह से वह डूबने लगे।

यह भी पढ़ें :

टॉलीवुड एक्ट्रेसेज से जुड़ी ये बातें आज तक नहीं आई सामने

सिनेमा घरों में धूम मचा सकती थी बॉलीवुड की ये 5 फिल्में, आजतक नहीं हुई रिलीज, ये है वजह

उन्हें डूबता देख कोई इसलिए बचाने नहीं आया, क्योंकि सबको लगा कि फिल्म में कोई सीन है, जिसमें उन्हें डूबने की एक्टिंग करनी है। हालांकि कुछ देर बाद एक पुलिसकर्मी ने आशीष की जान बचाई।