मुंबई : नई फिल्म 'सिम्बा' की सफलता का आनंद ले रहीं अभिनेत्री सारा अली खान का कहना है कि अभिनय हमेशा उनका सपना रहा है, लेकिन बहुत ज्यादा पढ़ाकू होने के कारण उनका मन बदलता रहा।

सारा अली।
सारा अली।

क्या कैमरे के सामने आना उनके करियर की पहली पसंद थी?

सारा ने रविवार को यहां ग्लोबल इंडियन इंटरनेशनल स्कूल के एक लीडरशिप लेक्चर सीरीज में कहा, "जब मैंने 10वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी की, तो मैं मेडिकल की पढ़ाई करना चाहती थी। लेकिन मुझे हल्के झटके की समस्या थी और मुझे महसूस हुआ कि मैं सर्जरी नहीं कर सकती।

सारा ने कानून की पढ़ाई करने का निर्णय लिया और इतिहास और राजनीति विज्ञान का अध्ययन किया।
सारा ने कानून की पढ़ाई करने का निर्णय लिया और इतिहास और राजनीति विज्ञान का अध्ययन किया।

इसलिए मैंने कानून की पढ़ाई करने का निर्णय लिया और इतिहास और राजनीति विज्ञान का अध्ययन किया। लेकिन लास्ट ईयर में, मैंने अपना अभिनय पाठ्यक्रम किया।"

खुद के बारे में उन्होंने कहा कि वह आज भी पढ़ना पसंद करती हैं।
खुद के बारे में उन्होंने कहा कि वह आज भी पढ़ना पसंद करती हैं।

25 साल की एक्ट्रेस ने बताया कि वह हमेशा से पढ़ाकू रही हैं। खुद के बारे में उन्होंने कहा कि वह आज भी पढ़ना पसंद करती हैं और लगभग हर विषय का अध्ययन कर चुकी हैं। वह कोलंबिया जैसे विश्वविद्यालय और न्यूयॉर्क जैसे एक शहर में इसका आनंद ले चुकी हैं। लेकिन रंगमंच पर काम करने के दौरान उन्होंने जो हड़बड़ी महसूस की, ऐसा उन्हें कभी नहीं हुआ।

सारा की मां ले आती थी किताबें

सारा ने बताया कि उनकी मां हमेशा उनसे किताबें ले लेती थीं। उन्होंने कहा, "अभिनय हमेशा से एक सपना रहा है, फिर भी इससे दूर रही। पहली बात कि मैं मोटी थी और दूसरी बात कि मैं बहुत पढ़ाकू थी और इसका मतलब था कि मुझे अभिनय नहीं करना चाहिए। इसलिए मैं पढ़ाई करती रहती थी और एक समय था जब मेरी मां मेरी किताबों को छीन लेती थीं और कहती थीं कि इतना पढ़ना ठीक नहीं है।"