मुंबई : अपनी अदाओं और किरदारों से बॉलीवुड की 'चांदनी' बनने वालीं अभिनेत्री श्रीदेवी का आज जन्मदिन है। बीती 24 फरवरी बॉलीवुड के साथ-साथ पूरे देश के लिए उस वक्त काला दिन बन गया, जब अचानक उनकी मौत की खबर सामने आई। श्रीदेवी का निधन दुबई के एक होटल में हुआ था। आज उनका जन्मदिन है और उनके फिल्मी सफर के बारे में हम आपको बता रहे हैं।

श्रीदेवी तमिलनाडु के एक छोटे से गांव मीनमपट्टी से निकलकर बॉलीवुड का चमकता सितारा बनीं। 13 अगस्त,1963 को जन्मी श्रीदेवी महज चार साल की उम्र में ही फिल्मों में काम करने लगी थीं। श्रीदेवी कई दक्षिणी भारतीय फिल्म में बतौर बाल-कलाकर के तौर पर पर्दे पर नजर आईं। एक्ट्रेस के तौर पर उन्होंने सबसे पहले तमिल फिल्म 'मुंदरू मुदिची' में काम किया।

बॉलीवुड में उन्होंने अपना कदम फिल्म "सोलवां सावन'' से रखा। यह फिल्म 1978 में आई लेकिन श्रीदेवी को पहचान नहीं दे पाई। पांच साल बाद श्रीदेवी फिल्म "हिम्मतवाला'' में अभिनेता जीतेंद्र के साथ आईं और इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा दी।

"हिम्मतवाला'' के बाद श्रीदेवी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और नायक प्रधान फिल्मों के दौर में उन्होंने "मवाली'' (1983), "तोहफा'' (1984), "मिस्टर इंडिया'' (1987), "चांदनी'' (1989), "चालबाज'' (1989), "लम्हे'' (1991) और "गुमराह" (1993) जैसी फिल्में दीं। बॉक्स ऑफिस पर हिट कहलाने वाली इन फिल्मों के बीच उनकी फिल्म "सदमा'' एक अलग पहचान रखती है। यह फिल्म 1983 में आई थी।

फिल्म "जुदाई'' में उन्होंने अनिल कपूर और उर्मिला मातोंडकर के साथ काम किया। इसके बाद ही श्रीदेवी ने अनिल कपूर के बड़े भाई बोनी कपूर से विवाह किया और करीब 15 साल तक रूपहले पर्दे पर नजर नहीं आईं। इस लंबे अंतराल में अपनी दो बेटियों की परवरिश करने के बाद श्रीदेवी साल 2012 में गौरी शिंदे के निर्देशन में बनी "इंग्लिश विंग्लिश'' में नजर आईं।

यह भी पढ़ें :

आईफा 2018 : इरफान, श्रीदेवी शीर्ष पुरस्कारों से सम्मानित

एक फैन जो गांव में बनवाएगा श्रीदेवी का मंदिर, लगाएगा 100 पेड़

इस फिल्म में श्रीदेवी अपनी "ग्लैमर क्वीन'' की छवि से बिल्कुल अलग, मध्यम वर्गीय गृहणी की भूमिका में नजर आईं जो इंग्लिश बोलने की चाहत इसलिए रखती है कि उसका परिवार उसकी अहमियत समझे। बीते साल वह ‘‘मॉम'' फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दिकी ओर अक्षय खन्ना के साथ दिखाई दीं।

उन्होंने अभिनेता शाहरूख खान की आगामी फिल्म "जीरो'' में एक अतिथि भूमिका के लिए भी शूटिंग की। यह फिल्म दिसंबर में रिलीज होगी। श्रीदेवी ने अपनी अंतिम सांस दुबई में ली, जहां वह अपने परिवार के साथ अपने भतीजे मोहित मारवाह के विवाह समारोह में शामिल होने गई थीं।

श्रीदेवी के परिवार से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि विवाह समारोह के बाद कुछ संबंधी दुबई से भारत लौट आए थे, लेकिन श्रीदेवी और उनकी छोटी बेटी खुशी दुबई में रूक गई थीं। श्रीदेवी की बड़ी बेटी जाह्नवी अपनी पहली फिल्म की शूटिंग की वजह से मुंबई में ही थीं।

श्रीदेवी की प्रमुख फिल्मों

'तोहफा', 'बलिदान', 'मास्टर जी', 'सरफरोश', 'आखिरी रास्ता', 'भगवान दादा', 'धर्म अधिकारी', 'घर संसार', 'नगीना', 'कर्मा', 'सुहागन', 'सल्तनत', 'औलाद', 'हिम्मत और मेहनत', 'नजराना', 'जवाब हम देंगे', 'मिस्टर इंडिया', 'शेरनी', 'सोने पे सुहागा', 'चांदनी', 'गुरु', 'निगाहें', 'बंजारन', 'जैसे को तैसा', 'जूली', 'सोलहवां साल', 'हिम्मतवाला', 'जस्टिस चौधरी', 'जानी दोस्त', 'कलाकार', 'सदमा', 'अक्लमंद', 'इन्कलाब', 'जाग उठा इंसान', 'नया कदम', 'मकसद जैसी कई फिल्में शामिल हैं।