फिल्म निशब्द में दो ऐसे लोगों की बीच की लवस्टोरी दिखाई गई है, जिसमें एक पिता अपनी बेटी की सहेली से प्यार करने लगता है, जिसकी रिलीज में लोगों ने जमकर बवाल काटा। ये फिल्म 2007 में पर्दे पर रिलीज हुई थी।
फिल्म निशब्द में दो ऐसे लोगों की बीच की लवस्टोरी दिखाई गई है, जिसमें एक पिता अपनी बेटी की सहेली से प्यार करने लगता है, जिसकी रिलीज में लोगों ने जमकर बवाल काटा। ये फिल्म 2007 में पर्दे पर रिलीज हुई थी।
 फिल्म कामा-सूत्र साल 1997 में रिलीज हुई, इस फिल्म को रोकने के लिए लोगों ने जमकर विरोध किया, दरअसल इस फिल्म में बोल्ड और न्यूड सीन थे।  
फिल्म कामा-सूत्र साल 1997 में रिलीज हुई, इस फिल्म को रोकने के लिए लोगों ने जमकर विरोध किया, दरअसल इस फिल्म में बोल्ड और न्यूड सीन थे।  
फिल्म लिपस्टिक अंडर माय बुरका के विरोध में लोग सड़को पर उतर आए, इस फिल्म को अलंकृता श्रीवास्तव ने डायरेक्ट किया था। फिलहाल ये फिल्म साल 2017 को पर्दे पर नजर आई।
फिल्म लिपस्टिक अंडर माय बुरका के विरोध में लोग सड़को पर उतर आए, इस फिल्म को अलंकृता श्रीवास्तव ने डायरेक्ट किया था। फिलहाल ये फिल्म साल 2017 को पर्दे पर नजर आई।
विद्या बालन की फिल्म डर्टी पिक्चर ने लोगों के बीच खूब सुर्खियां बटोरी, इस फिल्म में महिलाओं की गिरती इमेज को लेकर लोगों ने इस पर विरोध जताया था, ये फिल्म पर्दे पर 2011 में आईं। 
विद्या बालन की फिल्म डर्टी पिक्चर ने लोगों के बीच खूब सुर्खियां बटोरी, इस फिल्म में महिलाओं की गिरती इमेज को लेकर लोगों ने इस पर विरोध जताया था, ये फिल्म पर्दे पर 2011 में आईं। 
फिल्म फायर की कहानी में दो महिलाए के बीच शारीरिक संबंधो पर आधारित है, जिसके चलते लोगों वे इस फिल्म को रिलीज न होने के चलते विरोध प्रर्दशन किए, लेकिन ये फिल्म साल 1998 में सिनेमा घरों में आई। 
फिल्म फायर की कहानी में दो महिलाए के बीच शारीरिक संबंधो पर आधारित है, जिसके चलते लोगों वे इस फिल्म को रिलीज न होने के चलते विरोध प्रर्दशन किए, लेकिन ये फिल्म साल 1998 में सिनेमा घरों में आई। 
 फिल्म जूली 1975 को पर्दे में आई। फिल्म में शादी से पहले मां बनीं एक्ट्रेस पर आधारित थी जिसे लेकर लोगों ने भारी विरोध किया था।  
फिल्म जूली 1975 को पर्दे में आई। फिल्म में शादी से पहले मां बनीं एक्ट्रेस पर आधारित थी जिसे लेकर लोगों ने भारी विरोध किया था।  
 फिल्म आरक्षण को लेकर देशभर के लोग सड़कों पर उतर आए थे, प्रकाश झा की ये फिल्म साल 2011 में सिनेमाघरों में आई। इस फिल्म में रिजर्वेशन को लेकर बात की गई थी।
फिल्म आरक्षण को लेकर देशभर के लोग सड़कों पर उतर आए थे, प्रकाश झा की ये फिल्म साल 2011 में सिनेमाघरों में आई। इस फिल्म में रिजर्वेशन को लेकर बात की गई थी।
इस फिल्म के रिलीज के दौरान लोगों ने जमकर विरोध किया, यहां तक शहरों में इस फिल्म की रिलीज को लेकर करणी सेना ने दंगे किए, जिसकी चलते कई शहरों में इसके विरोध की आग फैली थी। फिल्म पहले साल 2017 में रिलीज होनी थी, लेकिन भारी विरोध के चलते इसे साल 2018 में रिलीज करना पड़ा।  
इस फिल्म के रिलीज के दौरान लोगों ने जमकर विरोध किया, यहां तक शहरों में इस फिल्म की रिलीज को लेकर करणी सेना ने दंगे किए, जिसकी चलते कई शहरों में इसके विरोध की आग फैली थी। फिल्म पहले साल 2017 में रिलीज होनी थी, लेकिन भारी विरोध के चलते इसे साल 2018 में रिलीज करना पड़ा।  
विशाल भारद्वाज द्वारा डायरेक्ट की गई इस फिल्म को कश्मीर में उपजे विवादों और राज्य की राजनीति की बारीकियों का खुलासा करने के चलते विरोध का सामना करना पड़ा था। 2014 में ये फिल्म आई थी। 
विशाल भारद्वाज द्वारा डायरेक्ट की गई इस फिल्म को कश्मीर में उपजे विवादों और राज्य की राजनीति की बारीकियों का खुलासा करने के चलते विरोध का सामना करना पड़ा था। 2014 में ये फिल्म आई थी। 
फिल्म मद्रास कैफे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के मर्डर पर आधारित थी, जिसे लेकर लोगों ने इसका विरोध किया। फिलहाल ये फिल्म 2013 में रिलीज हुई। 
फिल्म मद्रास कैफे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के मर्डर पर आधारित थी, जिसे लेकर लोगों ने इसका विरोध किया। फिलहाल ये फिल्म 2013 में रिलीज हुई। 
फिल्म विश्वरूपम को विरोध का दंश झेलना पड़ा। फिल्म को तमिलनाडु के सिनेमा घरों  में मुस्लिमों को आहत पहुंचाने के चलते बैन कर दिया गया था। फिल्म साल 2013 में आई थी।
फिल्म विश्वरूपम को विरोध का दंश झेलना पड़ा। फिल्म को तमिलनाडु के सिनेमा घरों में मुस्लिमों को आहत पहुंचाने के चलते बैन कर दिया गया था। फिल्म साल 2013 में आई थी।
फिल्म अपनी भाषा में गाली और दर्शाए गए आपत्तिजनक सीन्स को लेकर विवादों में थी। फिल्म साल 2012 में रिलीज हुई थी।
फिल्म अपनी भाषा में गाली और दर्शाए गए आपत्तिजनक सीन्स को लेकर विवादों में थी। फिल्म साल 2012 में रिलीज हुई थी।
डायरेक्टर करण जौहर ने फिल्म ऐ दिल है मुश्किल को 2016 में रिलीज किया था। फिल्म को उरी हमले का बैकग्राउंड और पाकिस्तानी स्टार फवाद खान के होने के कारण विरोध किया गया था।
डायरेक्टर करण जौहर ने फिल्म ऐ दिल है मुश्किल को 2016 में रिलीज किया था। फिल्म को उरी हमले का बैकग्राउंड और पाकिस्तानी स्टार फवाद खान के होने के कारण विरोध किया गया था।
आमिर खान की ब्लॉकबस्टर फिल्म पीके में सभी धर्मों को लेकर भ्रांतियां पैदा की गई थी, जिसको लेकर लोगों ने कई विवाद हुए, इस फिल्म को राजकुमार हिरानी ने डायरेक्ट किए था, ये फिल्म काफी विवाद के बाद सिनेमाघरों में आई, जिसके बाद लोगों ने इसे खूब पंसद किया। 
आमिर खान की ब्लॉकबस्टर फिल्म पीके में सभी धर्मों को लेकर भ्रांतियां पैदा की गई थी, जिसको लेकर लोगों ने कई विवाद हुए, इस फिल्म को राजकुमार हिरानी ने डायरेक्ट किए था, ये फिल्म काफी विवाद के बाद सिनेमाघरों में आई, जिसके बाद लोगों ने इसे खूब पंसद किया। 
फिल्म की कहानी एक विधवा की दोबारा शादी पर आधारित थी जिसे लेकर लोगों ने भारी विरोध के चलते फिल्म के पोस्टर तक फाड़ डाले थे। फिल्म 2007 में रिलीज हुई थी। 
फिल्म की कहानी एक विधवा की दोबारा शादी पर आधारित थी जिसे लेकर लोगों ने भारी विरोध के चलते फिल्म के पोस्टर तक फाड़ डाले थे। फिल्म 2007 में रिलीज हुई थी।