क्या हम ईश्वर से बंधे हुए हैं, इसे इस कहानी से समझें

एक व्यक्ति ने महात्मा से पूछा- क्या मनुष्य स्वतंत्र है? भाग्य, कर्म, नियति आदि क्या है? क्या ईश्वर ने हमें किसी बंधन में रखा है? महात्मा ने उस व्यक्ति से कहा- खड़े हो जाओ। यह सुनकर उस व्यक्ति को बहुत अजीब लगा फिर भी वह खड़ा हो गया। सुनिए आगे की कहानी।
 

अधिक ऑडियो
Advertisement
Back to Top