रूढ़िवाद का विरोध करने पर किया गया था प्रताड़ित, बावजूद हमेशा विनम्र रहे मार्टिन

दिनोंदिन बढ़ती इन प्रताड़नाओं से उकता कर एक दिन मार्टिन लूथर के एक शिष्य ने उनसे कहा, ‘अब तो हद हो गई है, अब आप अपनी सिद्धि एवं साधना से अभिशाप दे दीजिए।’मनुष्य का केवल एक ही है धर्म, समझ लेंगे तो हमेशा रहेंगे खुशमार्टिन लूथर ने कहा, ‘ऐसा कैसे हो सकता है?’

अधिक ऑडियो
Advertisement
Back to Top