आंध्र में इंटर व दसवीं परीक्षाओं के लिए तैयारियां पूरी, मंत्री ने की समीक्षा

कॉंसेप्ट फोटो  - Sakshi Samachar

अमरावती : मार्च और अप्रैल में होने जा रहे इंटरमीडिएट और दसवीं की परीक्षा के लिए सरकार ने व्यापक तैयारी की है। विद्यार्थियों की सुविधा से लेकर मॉस कॉपिइंग रोकने तक सभी मामलों में हर प्रकार की सावधानी बरती जा रही है। राज्यस्तर पर परीक्षा आयोजन पर पर्यवेक्षण के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है।

4 से 23 मार्च तक राज्यभर के 1,411 परीक्षा केंद्रों में होने वाली इंटर परीक्षाओं में करीब दस लाख विद्यार्थी भाग लेने वाले हैं। साथ ही 23 मार्च से 8 अप्रैल तक राज्यभर के 2,900 केंद्रों में होने वाली दसवीं की परीक्षाओं में कुल 6.30 लाख विद्यार्थी हिस्सा लेने वाले हैं। सभी परीक्षा केंद्रों के पास धारा 144 लागू करने के अलावा सभी जिरॉक्स सेंटर बंद रखे जाएंगे।

परीक्षा में गड़बड़ी को रोकने के लिए जंबलिंग पद्धति में परीक्षा पर्यवेक्ष आवंटित किए जाएंगे। परीक्षा केंद्रों में विद्यार्थियों के बैठने की बेहतर व्यवस्था की जा रही है।

इस साल दसवीं की परीक्षा में किए गए मामूली बदलाव के मद्देनजर उसके अनुरूप विद्यार्थियों को तैयार करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। नकल को रोकने के लिए परीक्षा केंद्रों में सीसी कैमरे लगाए जा रहे हैं। साथ ही परीक्षा पत्र लीक होने से रोकने के लिए चीफ सुपरवाइजर को छोड़कर बाकी किसी के पास भी मोबाइल फोन रखने की अनुमति नहीं रहेगी।

इस बार परीक्षा में किए गए बदलाव के मुताबिक उत्तर पुस्तिका केवल 24 पन्नों की होगी। एडिशनल लेने की संभावना नहीं रहेगी। साथ ही इस बार हॉल टिकट ऑनलाइन के जरिए डाउनलोड करने की सुविधा मुहैया कराई गई है। विद्यार्थी अपने परीक्षा केंद्रों की जानकारी हासिल कर सके, इसके लिए सरकार ने एक एप भी तैयार किया है।

मंत्री सुरेश ने तैयारियों की समीक्षा

राज्य के शिक्षामंत्री आदिमलपु सुरेश ने परीक्षा आयोजन की क्षेत्रस्तर पर समीक्षा की। बाद में सचिवालय में मीडिया से बातचीत में मंत्री ने परीक्षा को लेकर की जा रही तैयारियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इंटरमीडिएट में ग्रेडिंग के साथ मार्क्स भी दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस बार परीक्षाओं में सचिवालय के कर्मचारियों को परीक्षा पर्यवेक्षकों के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा।

Advertisement
Back to Top