अमेरिका में सड़क हादसा, तीन तेलुगु भाषियों की मौत

दिव्या-राजू दंपती, उनकी बेटी रिया और प्रेमनाथ  - Sakshi Samachar

हैदराबाद : अमेरिका के टेक्सास के फ्रिस्को शहर में हुए एक भीषण सड़क हादसे में तीन तेलुगु भाषियों की मौत हुई है। मृतकों में पति-पत्नी हैदराबाद के रहने वाले थे जबकि एक अन्य आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले का रहने वाला था।

नगर के गांधीनगर निवासी व आंध्र बैंक के रिटायर्ड मैनेजर गौतम बुद्ध-शिवलीला की बेटी दिव्या का विवाह 2007 में अमेरिका में रह रहे सॉफ्टवेयर इंजीनियर व घटकेसर सिंगागुपर टाउनशिप निवासी गविनी राजू के साथ हुआ था। बाद में दिव्या पति के साथ अमेरिका पहुंचकर वहां नौकरी करने लगी। उनकी एक बेटी रिया (7) है।

दंपती टेक्सास के शानियामटो से ट्रांसफर होकर डेलास आए थे। डेलास में उनका एक दोस्त प्रेमनाथ जो मूल रूप से आंध्रप्रदेश के गुंटूर जिले का रहने वाला था। प्रेमनाथ ने ही राजू दंपती को अपने घर पर रहने की सुविधा दे रखी थी।

गविनी राजू वेल्स फॉर्गो बैंक में काम करता था जबकि दिव्या नेशनल इंश्योरेन्स कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थीं। पिछले कुछ समय से ये दंपती डेलास के निकट फ्रिस्को शहर में अपने खुद का मकान बनवा रहे थे। रविवार होने से बेटी रिया को डांस क्लास में छोड़कर राजू दंपती प्रेमनाथ के साथ कार से अपने निर्माणाधीन मकान देखने गए।

वापसी के दौरान स्कूल जोन होने से एक जंक्शन के पास उन्होंने अपनी कार की रफ्तार कम की, लेकिन तभी पीछे से तेज रफ्तार के साथ पहुंची एक अन्य कार ने उनकी कार को टक्कर मार दी।

भारतीय समयानुसार रविवार शाम 7 बजे हुए इस हादसे में ड्राइविंग सीट पर सवार दिव्या सहित तीनों लोगों की मौके पर मौत हो गई। फ्रिस्को पुलिस के मुताबिक दुर्घटना के लिए जिम्मेदार कार चलाने वाला नाबालिग था। गविनी राजू के दोस्तों के जरिए हैदराबाद में रह रहे दिव्या और राजू के माता-पिता को घटना की सूचना मिली।

इसे भी पढ़ें:

अमेरिका में भारतीय नागरिक मनिंदर सिंह साही की हत्या, शव लाने के लिए इकट्ठा हो रहा है चंदा

अमेरिका के कोलंबस में रह रही दिव्या की बहन दीप्ति अपने पति के साथ घटनास्थल पहुंच चुकी है और रिया उन्हीं के पास है।

रविवार को दिव्या का जन्मदिन था और उसी दिन यह हादसा हुआ है। तीनों के शव शुक्रवार को हैदराबाद पहुंचने की उम्मीद है। मृतकों के दोस्तों व ताना एसोसिएशन मिलकर शवों को हैदराबाद भेजने की कोशिश कर रहे हैं।

प्रेमनाथ के परिवार की सहायता के लिए अमेरिका में रह रहे उनके दोस्त 'गो फंड मी साइट' के जरिए दान जुटा रहे हैं। 1.5 लाख डॉलर राशि जुटाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया थाल और केवल 24 घंटे में 24,418 डॉलर का दान जुटाया जा चुका है।

Advertisement
Back to Top