वर्ष 2021 तक पूरी होगी पोलावरम परियोजना, निर्माण कार्यों में आई तेजी

कॉंसेप्ट इमेज  - Sakshi Samachar

अमरावती : आंध्र प्रदेश के जल संसाधन मंत्री अनिल कुमार यादव ने पोलावरम परियोजना को 2021 तक पूरा करने के लिए राज्य सरकार द्वारा तैयार की गई कार्ययोजना पर अमल करने का आदेश दिया है।

इस महीने की 28 तारीख को सीएम वाईएस जगन पोलावरम परियोजना के कार्यों का जायजा लेने वाले हैं और इसी को देखते हुए मंत्री ने मंगलवार को विजयवाड़ा स्थित जल सिंचाई विभाग के कार्यालय में ईएनसी नारायण रेड्डी, पोलावरम परियोजना के सीई सुधाकर बाबू, राहत और पुनर्वास विभाग के आयुक्त बाबूराव सहित अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

सीई सुधाकर बाबू ने बताया कि पोलावरम परियोजना के स्पिल वे में 43 ब्लॉकों में पिलर्स से जुड़े कार्यों में तेजी आई है। एक पिलर 55 मीटर ऊंचा बनाने और एक मीटर पिलर की ऊंचाई बढ़ाने में चार दिन का वक्त लग रहा है। प्रति दिन 1,500 क्यूबिक मीटर के हिसाब से स्पिल वे में क्रांकिट का काम जारी है और आगामी जून तक स्पिल वे में कुल 2.05 लाख क्यूबिक मीटर के काम पूरे कर लिए जाएंगे।

पोलावरम परियोजना के पास चार टीएमसी बाढ़ का पानी जमा है और उसे खाली करने का काम तेज हो गया है। जुलाई में एर्थ कम रॉक फिल डैम के काम शुरू कर निर्धारित समयसीमा के भीतर काम पूरा करने के लिए कार्रवाई की जा रही है। मंत्री ने अधिकारियों को निर्माण कार्यों में हुई प्रगति को लेकर हर दिन अपडेट करने और इसके लिए एक एप तैयार कर उसपर अपलोड करने को कहा।

उन्होंने जून के भीतर 41.15 मीटर के दायरे में आने वाले जलमग्न गांवों के विस्थापितों को पुनर्वास मुहैया कराने के काम तेज करने का निर्देश दिया।

पोलावरम को 1,400 करोड़

पोलावरम परियोजना के कार्यों के लिए राज्य सरकार द्वारा किए गए खर्च में 1,400 करोड़ रुपए रिअंबर्समेंट करने के लिए पोलावरम परियोजना प्राधिकरण (पीपीए) के सीईओ चंद्रशेखर अय्यर द्वारा भेजे गए प्रस्ताव को केंद्रीय जल शक्ति विभाग के सचिव यूपी सिंह ने मंजूर करने के साथ ही तत्काल राशि जारी करने के लिए अनुमति मांगते हुए केंद्रीय वित्त विभाग के पास प्रस्ताव भेजा।

इसे भी पढ़ें :

अनिल कुमार का पोलावरम दौरा, कहा- जून 2020 तक उपलब्ध होगा सिंचाई जल

गौरतलब है कि हाल ही में मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने अपने दिल्ली दौरे के दौरान केंद्र सरकार से पोलावरम परियोजना पर राज्य सरकार द्वारा किए गए खर्च की राशि देने और पोलावरम परियोजना को निर्धारित समय के भीतर पूरा करने में सहयोग देने की अपील की थी।

Advertisement
Back to Top