नई दिल्ली : पालमुरू-रंगारेड्डी परियोजना को लेकर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। परियोजना के निर्माण में धांधलियों को लेकर सीबीआई से जांच करने पर पूर्व मंत्री नागम जनार्दन रेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दाखिल की। इस पर कोर्ट ने सुनवाई की। आयकर विभाग की ओर से परियोजना के ठेकेदारी संस्था के खिलाफ की गई जांच के आधार पर पूर्व मंत्री ने कोर्ट में पील दाखिल की।

नागम जनार्दन पील में कि मोटर खरीदी के साथ परियोजना के अन्य मामलों में बड़े पैमाने पर धांधलिया होने का संस्थाओं पर आरोप लगाया है। तेलंगाना सरकार की ओर से वकील ने बताया कि जिस संस्था की जांच हुई है उस संस्था का परियोजना के निर्माण से कोई लेना-देना नहीं है। ठेकेदारी संस्था के वकील ने भी यही कहा।

इसे भी पढ़ें :

केसीआर ने पालमपुर-रंगारेड्डी परियोजना के निर्माण कार्य की समीक्षा की, दिये ये निर्देश

नागम की चेतावनी, सबूतों के साथ साबित करेंगे धांधलियां

सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद चार सप्ताह के भीतर लिखित तौर पर अपने बयान पेश करने का आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट में अपील पर अगली सुनवाई चार सप्ताह तक स्थगित की गई।