AP को नहीं मिली भरपाई, विजयसाई रेड्डी ने केंद्र से लगाई गुहार

संसद में वाईएसआरसीपी के सांसद वी विजयसाई रेड्डी - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की वजह से आंध्रप्रदेश को हुए राजस्व घाटे की अगस्त एवं सितंबर माह में होने वाली भरपाई अब तक नहीं होने पर चिंता जाहिर करते हुए वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के एक सदस्य ने मंगलवार को राज्यसभा में मांग की कि यह भरपाई तत्काल की जानी चाहिए ताकि राज्य में विकास कार्य बाधित न होने पाएं।

वाईएसआर कांग्रेस के विजयसाई रेड्डी ने विशेष उल्लेख के जरिये यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि बंटवारे की वजह से पहले ही आर्थिक संकट का सामना कर रहे आंध्रप्रदेश को इस साल अगस्त से जीएसटी राजस्व घाटे से भी जूझना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि राजस्व अधिकारियों ने राज्यों का जीएसटी राजस्व घाटा 1,605 करोड़ रुपये होने का आकलन जताया है।

सांसद विजयसाई रेड्डी ने कहा ‘‘केंद्र के लिए राज्यों को दो माह के अंदर राजस्व घाटे की भरपाई करना अनिवार्य है। केंद्र सरकार ने आंध्रप्रदेश को अब तक अगस्त एवं सितंबर माह के राजस्व घाटे की भरपाई भी नहीं की है जो उसे अक्टूबर में कर देना चाहिए था। अब तो दिसंबर माह चल रहा है।''

सांसद ने कहा कि अक्टूबर नवंबर माह के राजस्व घाटे की भरपाई दस दिसंबर तक की जानी है। विशेष उल्लेख के जरिये ही सपा के सुखराम सिंह यादव ने पुलिस विभाग में रिक्तियों को तथा न्यायाधीशों के रिक्त पदों को शीघ्र भरने की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि स्वीकृत पदों के सापेक्ष नियुक्तियां न हो पाने की वजह से अपराध के मामले बढ़ रहे हैं। यादव ने पुलिस में सुधार की मांग भी की।

इसे भी पढ़ें :

राज्यसभा में सांसद विजयसाई रेड्डी ने किया सिबिल स्कोर बिल का विरोध

ट्रांसजेंडर बिल को सांसद विजयसाई रेड्डी ने दिया समर्थन, कहा-अधिकारों की होगी रक्ष

कांग्रेस की छाया वर्मा ने छत्तीसगढ़ के लिए मनरेगा की 2019-20 के लिए प्रस्तावित राशि शीघ्र दिए जाने की मांग की। छाया ने कहा कि 1982.15 करोड़ रुपये की यह राशि केंद्र के पास अब तक लंबित है जबकि छत्तीसगढ़ में मजदूर परेशान हैं। इसी पार्टी के प्रदीप टमटा तथा वानसुक सियाम ने भी विशेष उल्लेख के जरिये लोकमहत्व से जुड़े अपने अपने मुद्दे उठाए।

Advertisement
Back to Top