कर्नूल : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की विधायक कंगाटी श्रीदेवी ने राज्य में टीडीपी नेताओं को शव की राजनीति करना छोड़ देनी चाहिए। यहां पार्टी जिला कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में विधायक ने अस्वस्थता के कारण मरने वाले भवन निर्माण मजदूरों के परिवारों की मिजाजपुर्सी करने पहुंचे टीडीपी के राष्ट्रीय महासचिव नारा लोकेश की टिप्पणियों की कड़ी निंदा की।

उन्होंने कहा कि नारा लोकेश को यह बात भी याद रखनी चाहिए कि चेरुकुलपाड़ु में रेत की तस्करी में लगे टीडीपी नेताओं को रोके जाने के कारण वाईएसआरसीपी के नेता व अपने पति नारायण रेड्डी और उनके साथ सांबशिवुडु की श्याम बाबू ने दिन-दहाड़े हत्या करवाई थी। पिछली सरकार में रेत तस्करों को रोकने वाली तहसीलदार वनजाक्षी पर टीडीपी नेताओं ने ही हमला किया था और इसे भी नारा लोकेश को नहीं भूलना चाहिए।

वाईसीपी विधायक ने कहा कि पूर्व मंत्री नारा लोकेश को यह भी याद करना चाहिए कि पत्तिकोंडा के कनकदिन्ने ग्राम के पूर्व सरपंच ने ट्रैक्टर रेत के लिए 1,550 रुपए के चालान का भुगतान कर उन्हीं के डूप्लीकेट तैयार प्रति दिन 70 ट्रैक्टर रेत की तस्करी के जरिए हर महीने 21 लाख रुपए अर्जित किए थे।

इसे भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश के कॉलेजों में फीस पर लगाम, उल्लंघन पर होगी कार्रवाई

आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की भर्ती के लिए CM जगन मोहन ने पोर्टल का किया शुभारंभ

उन्होंने बताया कि राज्य में अधिक बारिश की वजह से नदी में रेत की किल्लत पैदा हुई है, लेकिन बारिश के कम होतो ही रेत की समस्या खत्म हो जाएगी।

बैठक में केडीसीसी बैंक के जिला पूर्व वाईएस चेयरमैन रामचंद्रा रेड्डी, पूर्व एमपीपी नागरत्नम्मा, मंडल संयोजक बजारप्पा, जिट्टा नागेश, वाईएसआरसीपी के नेता रामचंद्र, रहीमन, पल्ले प्रताप रेड्डी सहित कई नेता उपस्थित थे।