अमरावती : आंध्र प्रदेश मंत्रिमंडल ने महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। इस निर्णय के अतर्गत रेत की अवैध ढुलाई पर रोक लगाई जा रही है। रेत की अवैध ढुलाई करने पर आरोपी को दो साल की जेल की सजा दिलवाने का निर्णय लिया गया है।

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी की अध्यक्षता में बुधवार को आंध्र प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक संपन्न हुई। बैठक में कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की गई। इसमें अंग्रेजी माध्यम शिक्षा उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। इसे कैबिनेट मंजूरी दी है। पहली कक्षा से लेकर 6वीं कक्षा तक सरकारी और जिला परिषद पाठशालाओं में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी।

मंत्रिमंडल ने मकई का दर कम होने पर बैठक में चर्चा की गई। मंत्री कन्नाबाबू ने कि एक सप्ताह पहले मकई का दर प्रति क्विंटल 2200 रुपये था, लेकिन अब यह दर 1500 रुपये है। मंत्रिमंडल ने बताया कि मकई के लिए किसानों को कम से कम 1750 रुपये भी नहीं मिल रहा है।

सीएम जगन ने किसानों का नुकसान न हो सके, इस दिशा में कारगर कदम उठाने के आदेश अधिकारियों को दिये। साथ ही उन्होंने अधिकारियों को यथाशीघ्र खरीदी केंद्र खोलने के आदेश दिये।

इसे भी पढ़ें :

आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की भर्ती के लिए CM जगन मोहन ने पोर्टल का किया शुभारंभ

CM ने पूछा- क्या चंद्रबाबू और पवन के बच्चों ने अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाई नहीं की ?

आपको बता दें कि मार्केटिंग विभाग द्वारा किसानों का नुकसान न होते हुये मकई की खरीदी का निर्णय लिया गया। इस पर बुधवार दोपहर से विजयनगरम और कर्नूल जिलों खरीदी केंद्र खोलने को लेकर अधिकारियों ने पहल शुरू कर दी है।