विजयवाड़ा : आंध्र प्रदेश के वित्तमंत्री बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी ने कहा है कि पिछली सरकार ने बहुत ही दयनीय आर्थिक स्थिति हमें विरासत में दी है। पूर्व मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू पर बिजली डिस्कॉमों को नुकसान के दलदल में धकेलने और उद्योगों को दी जाने वाली रियायतें नहीं देने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम वर्तमान सरकार की आलोचना करते हुए उसके खिलाफ झूठा प्रचार कर रहे हैं।

बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी ने बुधवार को सचिवालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने सत्ता संभालने के चार महीने के भीतर अपने सभी वादे पूरे किए हैं। उन्होंने बताया कि किसानों को ब्याजमुक्त ऋण और बीमा सुविधा देने के साथ-साथ शराब दुकानों की संख्या घटाई गई है। उन्होंने कहा कि वाईएस जगन को सभी वादे पूरे करते देख चंद्रबाबू नायडू बौखला गए हैं।

वित्तमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार द्वारा बजट में सही आवंटन नहीं करने की वजह से नीति आयोग की रिपोर्ट में आंध्र प्रदेश 10वें स्थान पर खिसक गया है और इनसबके लिए सिर्फ और सिर्फ पिछली बाबू सरकार ही जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू सरकार दो लाख 60 करोड़ रुपए का कर्ज कर उसे मौजूदा सरकार पर थोपने के अलावा उल्टा उसकी आलोचना की जा रही है।

उन्होंने बताया कि इंडिया इंडेक्स सर्वे में राज्यों की स्थिति पर रिपोर्ट सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि राज्य में तीन महीने के भीतर सभी कॉलेजों, यूनिवर्सिटियों में बुनियादी सुविधाएँ मुहैया कराना कैसे संभव है? उन्होंने पूछा कि लाखों करोड़ रुपए का निवेश और लाखों नौकरियां देने का बाबू सरकार का दावा अगर सही है तो आज ऐसी स्थिति क्यों है? उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि हैदराबाद जैसे नगर के कारण तेलंगाना हमारे मुकाबले आगे है।

इसे भी पढ़ें :

स्वस्थ आंध्र की दिशा में CM जगन का फैसला, शुरू होंगे ‘YSR बाल संजीवनी और YSR बालामृतम’

‘वाईएसआर नेतन्ना नेस्तम’ योजना के लिए जारी हुआ शासनादेश, दिसंबर से होगा अमल

उन्होंने बताया कि जलापूर्ति और साफ-सफाई के मामले में आंध्र प्रदेश 16वां स्थान पर है। उसीलिए वाटर ग्रिड प्रोजेक्ट शुरू किए जा रहे हैं। उद्योग और इनोवेशन के मामले में आंध्र प्रदेश देश में 20वें स्थान पर है और इसके लिए हम क्लस्टर्स के जरिए औद्योगिक विकास हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं।