अमरावती : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने गोदावरी में आनेवाले बाढ़ के पानी सदुपयोग करने के उद्देश्य से कृष्णा और पेन्ना नदियों को जोड़ने का निर्णय लिया है। गोदावरी-कृष्णा और पेन्ना नदियों को जोड़ने के कार्यों का सीएम जगन 26 दिसंबर को शिलान्यास कर शुभारंभ करेंगे।

मुख्यमंत्री जगन ने इस योजना से जुड़ा प्रस्ताव और लागत की रूपरेखा बनाकर टेंडर प्रक्रिया पूरी करने के अधिकारियों को आदेश दिये। गोदावरी-पेन्ना नदियों को जोडने के लिए प्रथम चरण में केंद्र ने 6,020 करोड़ रुपयों की लागत से कार्य पूरा किया है। विशेषज्ञों की समिति ने सुझाव दिया है कि हायड्रालॉजिकल और अन्य अनुमति के बगैर किये गये इन कार्यों को रद्द करें। इस पर सीएम जगन ने यह निर्णय लिया है। गोदावरी में आनेवाले बाढ़ के पानी में से हररोज कम से कम चार टीएमसी जल कृष्णा और पेन्ना नदी में छोड कर तीन नदियों को जोड़ने पर जोर दिया जा रहा है। इस संदर्भ में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिये।

इसे भी पढ़ें :

एग्री गोल्ड पीड़ितों के लिए एपी सरकार ने खोला खज़ाना, 264 करोड़ रुपये जारी

AP : आरोग्यश्री के तहत हैदराबाद सहित इन शहरों में भी करा सकेंगे अपना इलाज

जल संसाधन विभाग के विशेष मुख्य सचिव आदित्यनाथ दास ने गोदावरी-कृष्णा और पेन्ना नदी को जोड़ने के पुराने डीपीआर की बजाय नया डीपीआर के अनुसार प्रस्ताव बना कर पेश करने का आदेश दिया। अक्टूबर के अंत तक डीपीआर पेश करने को कहा गया। इन निर्देश के आधार पर नवबर 15 से कार्य शुरू करने के लिए एस्टिमेट और प्रशासन की अनुमति लेने का निर्णय लिया गया। सीएम ने कहा कि टेंडर मंगवाने की प्रक्रिया 15 दिसंबर तक पूरी कर ठेकेदारों को सौंपा जाए।