आंध्र में डूबी नौका को बाहर निकालने के लिए अभियान शुरू, अभी भी 13 लोग लापता

नदी में डूबे लोगों की तलाश करते बचाव व राहतकर्मी (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

राजमंड्री : आंध्र प्रदेश में पिछले महीने गोदावरी नदी में 77 लोगों को ले जा रही एक नौका के डूब जाने के बाद मंगलवार को एक निजी कंपनी ने डूबी नौका को बाहर निकालने के लिए अभियान शुरू किया है। बालाजी मरीन्स के कर्मचारियों ने भारी मशीनों की मदद से पूर्वी गोदावरी जिले के देवीपट्टनम ब्लॉक के काचलुरु गांव में नाव को पानी से निकालने के प्रयास शुरू किए हैं।

इस महीने की शुरुआत में भी कंपनी ने नाव को बाहर निकालने का प्रयत्न किया था, किन्तु वह नाकाम रही थी। पानी का बहाव तेज होने के चलते तीन दिन बाद अभियान को रोकना पड़ा था। जैसे ही बाढ़ का पानी कम होना शुरू हुआ, कंपनी ने मंगलवार को पुन: अभियान शुरू किया।

कंपनी विशेषज्ञ तैराकों, नौकाओं, बेड़े, अभियान के लिए 1,500 मीटर लोहे की केबल और हुक का इस्तेमाल कर रही है।

गोदावरी नदी में जारी बचाव व राहत का काम (फाइल फोटो)

15 सितंबर को रॉयल वासिस्टा टूरिस्ट बोट (नाव) 77 लोगों को पर्यटन स्थल पापिकोंडलु के लिए ले जा रही थी। काचुलुरु गांव के पास वह पलट गई। ग्रामीणों ने 26 लोगों को बचा लिया था, जबकि 38 लोगों के शव बाद में बरामद किए गए थे। 13 लोग अभी भी लापता हैं और ऐसा माना जा रहा है कि उनके शव अभी भी डूबी नाव में हो सकते हैं।

दुर्घटना को लेकर राज्य सरकार ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं। बाढ़ के दौरान पोत पर बैन लगने के बाद भी उसका प्रयोग करने को लेकर नाव के मालिक और चालक को गिरफ्तार कर लिया गया था।

Advertisement
Back to Top