अमरावती : जनता का धन बचाने का वादा कर चुके आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी खरे उतर रहे हैं। आंध्र प्रदेश के कृषिमंत्री कुरुसाला कन्नबाबू ने कहा कि पोलावरम रिवर्स टेंडरिंग से 830 करोड़ रुपये की बचत होगी।

परियोजना के निर्माण के लिए बुलाई गई रिवर्स टेंडरिंग में 12.6 फीसदी कम में टेंडर निर्धारित किए गए हैं। इससे वाईएस जगन ने साबित कर दिखाया है कि वह क्या-क्या कर सकते हैं। मंत्री ने कहा कि सिर्फ एक पोलावरम में इतना बड़ा घपला हुआ है तो यह सवाल उठना लाजमी है कि टीडीपी के पांच सालों में कितने घपले किए होंगे?

सोमवार को अमरावती में मीडिया से बातचीत में मंत्री ने पिछले कुछ महीनों से वाईएस जगन की सरकार की आलोचना करने में जुटे चंद्रबाबू को रिवर्स टेंडरिंग को लेकर जरूर अपना विचार व्यक्त करना चाहिए। उन्होंने बताया कि एक बार फिर यह बात साबित हुई है कि वाईएस जगन की सरकार पूरी तरह पारदर्शी है।

इसे भी पढ़ें :

उंडवल्ली करकट्टा पर अवैध रूप से निर्मित चंद्रबाबू के मकान को गिराए जाने का येलो मीडिया कर रहा दुष्प्रचार

तेलुगु भाषी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक हैदराबाद में शुरू

उन्होंने कहा कि राज्य में कहीं भी किसी भी तरह का भ्रष्टाचार न हो, इसके लिए ज्यूडिशियल कमिशन, लोकायुक्त की नियुक्ति की गई है। उन्होंने कहा कि दूसरे देश के लोग भी वाईएस जगन द्वारा चलाए जा रहे संशोधनों की प्रशंसा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि टीडीपी नेताओं की लूट का रिवर्स टेंडरिंग से पर्दाफाश हुआ हैष। इसीलिए सरकार पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।