विशाखापटनम : जिले के एजेन्सी क्षेत्र में पुलिस और माओवादियों के बीच हुई भीषण मुठभेड़ में पांच माओवादी ढेर हो गए। विशाखापटनम के जीके वीधि मंडल के मादिगमल्लु के धारकोंडा एजेन्सी क्षेत्र में हुई इस मुठभेड़ में पांच माओवादी मारे गए।

इससे माओवादी साप्ताहिकोत्सव के वक्त बड़ा झटका लगा है। यही नहीं, मुठभेड़ में माओवादी पार्टी के शीर्ष नेता अरुणा होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। हाल ही में ईस्टजोन पहुंची अरुणा गत कुछ समय से विशाखापटनम मान्यम क्षेत्र में पार्टी कार्यकलाप चला रही हैं। लंबे समय तक माओवादी आंदोलन में रहीं अरुण कई ऑपरेशनों में भाग लेने की खबर है। हालांकि अरुणा की मौत को लेकर पुलिस की तरफ से किसी तरह की पुष्टि नहीं हुई है।

इससे पहले माओवादियों के हाथों हत्या के शिकार हुए नेता किडारी सर्वेशेवर राव की मुठभेड़ में अरुणा की सक्रीय भूमिका होने की खबरें भी आईं थी। 2015 में कोय्यूर मुठभेड़ में पुलिस के हाथों मारे गए शीर्ष माओवादी नेता आजाद की बहन अरुणा उर्फ वेंकट रवि चैतन्य ने किडारी की हत्या में नेतृत्व किया था।

ये भी कहा गया था कि अरुणा ने करीब से विधायक और पूर्व विधायक पर गोलियां चलाई थी। उसके बाद अरुणा कई बार हुई मुठभेड़ों में बचकर निकली थी। अब दारकोंडा में हुई मुठभेड़ में अरुणा के मारे जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है। रविवार सुबह से पुलिस और माओवादियों के बीच मुठभेड़ जारी रहने के मद्देजनर पुलिस ने अधिकारियों ने एओबी में हाई अलर्ट घोषित किया है।