राजमंड्री : आंध्र प्रदेश के पापीकोंडालु में रविवार को गोदावरी नदी में एक बड़ा नाव हादसा हुआ। हादसे में अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है। नाव में कुल 71 लोग सवार थे।

आंध्र प्रदेश आपदा प्रबंधन विभाग ने बताया कि नाव हादसे में आठ लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 27 लोगों को बचाया जा चुका है। नाव पर कुल 71 लोग मौजूद थे, जिनमें 60 पर्यटक और 11 कर्मचारी थे। अन्य लापता लोगों को ढूंढने का प्रयास जारी है।

नाव हादसे पर पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी, तेलंगाना सीएम केसीआर ने दुख जताया है।

गोदावरी नदी में बचाव व राहत कार्य में जुटे कर्मी 
गोदावरी नदी में बचाव व राहत कार्य में जुटे कर्मी 

मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने नाव दुर्घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होेेंने मृतक परिजनों को दस-दस लाख रुपये मुआवजा की घोषणा की है। उन्होंने गोदावरी नदी में नाव डूब जाने की घटना की जानकारी ली। साथ ही जिला अधिकारियों को तुरंत राहत कार्य में जुट जाने आदेश दिया। दूसरी ओर मदद के लिए अधिकारियों ने विशेष हेलीकॉप्टर को राजमंड्री रवाना किया है। इसी क्रम में प्रदेश के मुख्यसचिव एलवी सुब्रह्मण्यम ने नाव दुर्घटना को लेकर अधिकारियों से बातचीत की है।

मुख्यमंत्री ने मृतक परिजनों को दस-दस लाख रुपये मुआवजा की घोषणा की है। साथ ही कहा कि पीड़ित परिजनों को हर संभव मदद करेगी। मृतकों में नाव चालक नुकराजू और तामराजू शामिल है। अब तक 12 शवों बाहर निकाला गया। राहत और बचाव कार्य जारी है।

राहत और बचाव में जुटे पुलिस और अधिकारी
राहत और बचाव में जुटे पुलिस और अधिकारी

इसी क्रम में नाव दुर्घटना के चलते विशाका जिलाधीश कार्यालय में कंट्रोल रूम को स्थापित किया है। विशाखा जिलाधीश ने कहा कि यदि विशाखा से पापिकोंडला गए हो तो इसकी जानकारी कंट्रोल रूम नं. 180042500002 को जानकारी दें। इसी क्रम में पूर्वी गोदावरी जिलाधीश कार्यालय में कंट्रोल रूम को स्थापित किया है। जिलाधीश रेवु मुत्यालु ने कहा कि यदि नाव दुर्घटना की कोई जानकारी हो तो वे कंट्रोल रूम के नं. 18002331077 को सूचित करें।

नाव दुर्घनटा में मारे गये पर्यटक
नाव दुर्घनटा में मारे गये पर्यटक

आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में पोलावरम के पास गोदावरी नदी में एक नाव डूब गई है। नाव पर 62 यात्रियों के सवार रहने की खबर है। बचाव व राहत कार्य में जुटे लोगों ने अब तक 24 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है।

नदी के तट पर पड़ा शव
नदी के तट पर पड़ा शव

यह भी देखें :

VIDEO: आंध्र प्रदेश में बड़ा नाव हादसा, 40 लोग अभी भी लापता

मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने आदेश दिया कि सभी नाव की सेवाओं को रद्द किया जाये। मुख्यमंत्री ने नाव चालकों को प्रशिक्षित होने या न होने की भी जानकारी हासिल करने के आदेश दिये। नाव दुर्घटनाग्रस्त नाव में हैदराबाद के 22 लोग सवार थे।

नाव में चढ़ते पर्यटक
नाव में चढ़ते पर्यटक

मंत्री कन्नाबाबू ने इस दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्ति किया है। उन्होंने सरकार की तरफ से हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

पर्यटकों को ले जाने वाले नाव
पर्यटकों को ले जाने वाले नाव

घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद प्रशासन सतर्क होकर मैदान में उतर गया है। यह नाव गंडीपोचम्मा से पापीकोंडा जा रही थी। यह घटना देवीपटनम मंडल के कुच्चुलुरूमंदम गांव के पास घटी है। बताया जाता है कि नाव पर सवार अधिकांश यात्री लाइफ जैकेट पहने हुए हैं।