विशाखापट्टनम : विशाखापट्टनम में भारी वर्षा के कारण एक व्यक्ति पानी में बह गया और उसके बारे में किसी को कुछ पता नहीं चला। लेकिन कुछ दिनों बाद उसके पालतु कुत्ते के कारण उसका शव मिल गया।

पाडेरु मंडल के पातरपुट्टुकि का रहने वाला लक्ष्मय्या 20 दिनों पहले खेती का काम खत्म करके घर आते समय पानी के प्रवाह में बह गया। उसकी कोई खबर किसी को नहीं मिली साथ ही घर वाले भी उसकी खबर न मिलने से काफी परेशान थे।

वहीं दूसरी ओर उसके पालतु कुत्ते ने हार नहीं मानी और वह उसे अपनी तरह से ढूंढता रहा। जब बाढ़ का पानी कम हुआ तो मंगलवार की दोपहर रेत व बालू के नीचे उसे कुछ पहचाना सा नजर आया। उसने अपने मालिक की शर्ट को पहचाना और उसके कपड़े पकड़कर बाहर खींचने लगा।

बाद में दुर्गंध आने पर कुछ लोगों ने भी ध्यान दिया, उसके घरवाले भी आ गए और सबने मिलकर उसे बाहर निकाला। इस बारे में आर आई वेंकटरमणा, वीआरआई सिंहाचलम को बताया गया।

इसे भी पढ़ें :

राष्ट्रीय खेल दिवस : सीएम जगन की पहल, इन खिलाड़ियों को दिये जाएंगे पुरस्कार

पालतु कुत्ते की वजह से ही मालिक का शव मिल सका। वहीं कुत्ते की वफादारी जगजाहिर है, तो यहां भी मालिक की कोई खोज-खबर न मिलने से कुत्ता भी परेशान हुआ और आखिर उसने मालिक के शव को खोज निकाला।

पर घरवालों में शव के मिलने से शोक की लहर दौड़ गई और किसी के आंसू रोके नहीं रुक रहे थे।