विजयवाड़ा / वाशिंगटन: करीब साढे पांच दशक पहले मार्टिन लूथर किंग ने अमेरिका में अपने भाषण की शुरुआत के साथ 'आई हैव अ ड्रीम' फ्रेज को जोड़ा था। जिस पर खूब तालियां बजी थी। कुछ अलग संदर्भ और कुछ हटके दर्शकदीर्घा को संबोधित करते हुए आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन ने भी इन्ही बोलों का इस्तेमाल किया, तो वैसी ही तालियां गूंज उठी। मार्टिन लूथर किंग की धमक जैसा ही असर जगन मोहन रेड्डी के भाषण में दिखा।

सामाजिक न्याय को लेकर अगस्त महीने में ही मार्टिन लूथर किंग ने अपना ओजस्वी भाषण दिया था। जिसकी शुरुआत 'आई हैव अ ड्रीम' बोलों के साथ की गई थी। आंध्र के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने भी मार्टिन लूथर किंग को श्रद्धांजलि देते हुए कुछ ऐसा ही असर छोड़ा। अपनी 3,648 किलोमीटर लंबी पदयात्रा के बाद दिए भाषण से साफ लगा कि युवा मुख्यमंत्री अपने सपने को साकार करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं।

यह भी पढ़ें:

USIBC मीटिंग: महज एक एप्लिकेशन पर आंध्र में लगाएं इंडस्ट्री, CM जगन मोहन का न्यौता

अमेरिका के डल्लास में Kay Bailey Hutchison Convention Centre में लोगों की भीड़ खचाखच देखी गई। मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश में सामाजिक न्याय का नारा बुलंद किया। वाई एस जगन के मुताबिक उनका सपना है कि कोई भी व्यक्ति आर्थिक अभाव में इलाज से वंचित न रह जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका सपना है कि कोई भी सक्षम व्यक्ति मौके की तलाश में यूं ही भटकता न फिरे, या फिर उसे नौकरी के लिए बाहर न जाना पड़े। जगन मोहन ने साफ कहा कि उनका सपना है कि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक तौर पर सबल किया जाय।

वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि उनका सपना है कि आंध्र के किसान कर्ज के बोझ के तले न दबें। किसानों की ऐसी परिस्थिति न हो कि उनकी उपज का खरीदार न मिल सके। या फिर उनकी फसलें मौसम की मार झेलत झेलते बेजार हो जाय।

मुख्यमंत्री के मुताबिक उनका सपना है कि निरक्षरता के साथ ही भ्रष्टाचार को खत्म कर भयमुक्त शासन दे सकें। सपना बेहतर शिक्षा देने का, एक ऐसा सपना जिसमें सरकारी अस्पतालों में भी बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो। बड़ा सपना ये कि आंध्र प्रदेश का हर नागरिक अपने खुद के घर में रह सके।

सपनों को आगे बढ़ाते हुए वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि उनका सपना है कि आंध्र पूरी तरह कृषि के मायने में सिंचित हो। लोगों को सही पेयजल की सुविधा मुहैया हो सके। साथ ही जात-पात या धर्म के आधार पर लोगों के साथ भेदभाव न हो सके।

वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि इन्हीं सपनों को पूरा करने के लिए उन्होंने अपने सूबे में नवरत्नालु का प्रयोग शुरू किया है। जो समाज के हर वर्ग के लोगों की जरूरतों को पूरा करता है। रैतु भरोसा, अम्मा वाडी, आरोग्यश्री, YSR आसरा, YSR चेयुता, पेन्शन, हाउसिंग, फी रीम्बर्समेंट सहित मुख्यमंत्री ने उन 19 विधेयकों की चर्चा की। जिसे हाल ही में राज्य विधानमंडल ने पारित किया है। जिसका मकसद महज राज्य में पारदर्शिता लाना और भ्रष्ट मुक्त शासन लोगों को मुहैया कराना है।

उपस्थित लोगों के उत्साह पर मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने आभार जताया साथ ही बीते चुनाव में उनके उत्साहवर्धन के लिए शुक्रिया अदा किया। पिछले आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में 175 विधानसभा की सीटों में से YSRCP ने 151 सीटों पर कब्जा जमाया। साथ ही 25 में से 22 संसदीय सीटों पर पार्टी काबिज हुई है।

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति से बातचीत के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने वाई एस जगन मोहन रेड्डी को जानकारी दी कि अमेरिका में तेलुगूभाषियों ने किस तरह देश की प्रगति में हिस्सेदारी दी है। उक्त भेंट का अपने भाषण में उल्लेख करते हुए वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश मूल के अप्रवासी भारतीयों की सराहना की। बता दें कि अमेरिका में कुल 51 लाख अप्रवासी भारतीय रहते हैं, जिसमें अकेले तेलुगूभाषियों की संख्या करीब चार लाख है।

वाई एस जगन मोहन रेड्डी फिलहाल अमेरिका प्रवास पर ही हैं। उनके तेजस्वी भाषण ने लोगों को उत्साह से भर दिया। जाहिर है लोगों ने एक बार फिर संकल्प लिया कि सात समंदर पार रहते हुए अपने सूबे के कल्याण के लिए वे हरसंभव हाथ बंटाते रहेंगे।