विजयवाड़ा : मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि ईएसएल नरसिम्हन और कुछ समय के लिए आंध्र प्रदेश के राज्यपाल बने रहे होतो अच्छा होता। राज्यपाल नरसिम्हन के विदाई समारोह में भाग लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यपाल को विदाई देने को लेकर जहां एक तरफ हमें दु:ख है, वहीं दूसरी तरफ इस बात का विश्वास है कि वे सदैव हमारे साथ रहेंगे।

सीएम जगन ने कहा, 'पिताजी की तरह नरसिम्हन ने मुझे अनेक सलाहें दीं। मेरे मुख्यमंत्री बनने के बाद भी वे मुझे दिशा-निर्देश करते रहे, लेकिन वह कुछ समय के लिए और बने रहते तो अच्छा होता।'

गौरतलब है कि नरसिम्हन लंबे समय तक दोनों तेलुगु भाषी राज्यों के संयुक्त राज्यपाल बने रहे। आंध्र प्रदेश के लिए नए राज्यपाल के रूप में विश्वभूषण हरिचंदन के नियुक्त होने से नरसिम्हन अब केवल तेलंगाना के राज्यपाल बने रहेंगे।

इससे पहले राज्यपाल नरसिम्हन ने कहा, 'पिछले नौ वर्षों तक राज्य के लोगों ने मेरे और मेरी पत्नी विमला को जो प्यार और सम्मान दिया है हम उसे भूल नहीं सकते। प्रशासनिक स्तर कुछ पता होकर भी गलती की और कुछ गलतियां पता नहीं होने से हुईं। अगर मेरी वजह से किसी को नुकसान हुआ है तो उसके लिए माफी मांगता हूं।'

इसे भी पढ़ें :

CM जगन मोहन ने की नई योजना ‘YSR नवोदयम’ की घोषणा, उद्योगों को मिलेगी संजीवनी

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के कार्यकाल में आंध्र प्रदेश विकास के मार्ग पर अग्रसर हो। इस मौके पर मुख्यमंत्री की पत्नी वाईएस भारती, मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, कुछ मंत्री और कुछ उच्चाधिकारी मौजूद थे।