विजयवाड़ा : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के विधायक आल्ला रामकृष्णा रेड्डी ने कहा कि राज्य के लोग अच्छी तरह जानते हैं कि कौन किसानों के हितैशी हैं और विरोधी। उन्होंने कहा कि किसानों के प्रति मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी की प्रतिबद्धता पर कोई सवाल नहीं उठा सकता।

उन्होंने शुक्रवार को असेंबली प्वाइंट पर सरकार के मुख्य सचिव गडिकोटा श्रीकांत रेड्डी के साथ मिलकर पत्रकारों के साथ बात की। उन्होंने बताया कि दिवंगत वाईएसआर ने किसानों को मुफ्त बिजली देकर उनके कल्याण की दिशा में पहल की थी और अब सीएम वाईएस जगन भी किसानों के लिए कल्याणकारी नीतियां अपना रहे हैं। उन्होंने बताया कि बटाईदार किसानों के लिए राज्य में नया कानून बनाया जा रहा है।

आल्ला रामकृष्णा ने कहा कि संपूर्ण ऋणमाफी करने में असमर्थ चंद्रबाबू ने कृषि क्षेत्र को पूरी तरह से निष्क्रिय बना दिया है। चंद्रबाबू पर 2017 में एसएलबीसी की बैठक में किसान ऋण माफी का जिक्र नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आज अगर ऋषि ऋण बकाया है तो वह सिर्फ केवल चंद्रबाबू की अनदेखी की वजह से है। उन्होंने बाबू से पूछा कि उनके कार्यकाल में कितने हेक्टेयर में खेती हुई थी और अब कितने हेक्टेयर में खेती हो रही है? आरके ने इस मुद्दे पर चंद्रबाबू को चर्चा के लिए आगे आने की चुनौती दी।

किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है जगन की सरकार

सरकार के सचेतक गडिकोटा श्रीकांत रेड्डी ने कहा कि किसानों के प्रति वाईएस जगन मोहन रेड्डी की सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और जगन ने सदन में किसानों में नई उम्मीद जगाने जैसी बाते कही हैं।

AP विधानसभा में ब्याज मुक्त ऋण योजना पर बहस के दौरान विपक्ष का हंगामा

उन्होंने कहा कि टीडीपी चुनाव से पहले 17,200 करोड़ रुपये का ऋण माफ करने का वादा किया था, लेकिन वह केवल 1500 करोड़ रुपये का भुगतान कर चुकी है। उन्होंने बताया कि पिछले पांच वर्षों में किसानों के ऋणों पर 1600 करोड़ रुपये का ब्याज ही हुआ है। उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू यह कहने की स्थिति में नहीं है कि उन्होंने किसानों का ऋण माफ किया है।