आधी रात से ‘प्रजा वेदिका’ को गिराने की कवायद हुई शुरू, चंद्रबाबू की बढ़ी मुश्किलें, देखिए वीडियो 

प्रजा वेदिका को गिराते हुए अधिकारी (इनसेट में चंद्रबाबू नायुडू - Sakshi Samachar

विजयवाडा : आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू द्वारा अमरावती में अवैध निर्मित प्रजा वेदिका पर मंगलवार की आधी रात जेसीबी चला दी गई। सीआरडीए अतिरिक्त कमीश्नर विजयकृष्णन के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम ने मंगलवार रात को प्रजा वेदिका को गिराने की प्रक्रिया शुरू की प्रक्रिया शुरू की।

प्रजा वेदिका पर बुलडोजर चलने से परेशान चंद्रबाबू नायडू ने आनन फानन में हाइकोर्ट में गुहार लगाई। रात 12 बजे हाउस मोशन पिटीशन कोर्ट में दाखिल किया गया, जिस पर उच्च न्यायालय ने स्टे देने से मना कर दिया। श्रीनिवास नामक व्यक्ति ने प्रजा वेदिका को गिरान पर रोक लगाने के लिए हाउस मोशन याचिका दायर की। श्रीनिवास की ओर से अधिवक्ता ने हाउस मोशन याचिका दायर की।

दायर याचिका में कहा कि कल तक प्रजा वेदिका को गिरा दिया जाएगा, इस बात को ध्यान में रखते हुए रोक लगा दिया जाए। मगर कोर्ट ने प्रजा वेदिका को गिराने पर रोक लगाने इंकार किया। हाईकोर्ट में दाखिल याचिका के दौरान जिस अधिकारी ने इस अवैध निर्माण की अनुमति दी थी। उसके पास से निर्माण खर्च को वसूल करने को लेकर भी सुनवाई के दौरान एजी ने सरकार की ओर से बहस की।

साथ ही उच्च न्यायालय ने इस मामले पर चार हफ्ते बाद ही सुनवाई का आदेश दिया है। आधिकारिक जानकारी के मुताबिक प्रजा वेदिका के 60 फीसदी हिस्से को गिराने का काम पूरा कर लिया गया है। किसी तरह की गड़बड़ी से निबटने के लिए भारी संख्या में वहां पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है।

इससे पहले भवन में रखे हुए फर्नीचर्स, कंप्युटर्स, एसी, माइक सिस्टम, इलेक्ट्रिकल सामग्री आदि को हटा दिया गया था। इसके बाद जेसीबी की मदद से कैंटीन, रसोईघर के शेड और प्रहरी दीवार को गिरा दिया गया।

प्रजा वेदिका पर कार्रवाई के लिए विभागीय अधिकारियों की सूचना मिलने पर टीडीपी नेताओं और कार्यकर्ताओं के अलावा चंद्रबाबू नायडू रात 11.30 बजे विजयवाड़ा के एयरपोर्ट पहुंचे। मगर अधिकारियों ने सभी को रोक दिया। इसके चलते कुछ पल के लिए वहां पर तनाव की स्थिति उत्पन्न हुई।

यह भी पढ़ें :

जमींदोज़ होगी ‘प्रजा-वेदिका’, चंद्रबाबू ने कराया था अवैध निर्माण- YS वाईएस जगन

आपको बता दे कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने अवैध तरीके से निर्मित प्रजा वेदिका बिल्डिंग को तोड़ने का जिलाधीशों की बैठक में आदेश दिया था। अधिकारियों की बैठक के बाद विभागीय अधिकारियों की टीम मंगलवार की देर रात प्रजा वेदिका पहुंची।

प्रजा वेदिका को गिराये जाने की जानकारी मिलते ही वहां चंद्रबाबू के समर्थक भारी मात्रा में पहुंच गए। उनके विरोध के बावजूद विभागीय टीम ने प्रजा वेदिका को जेसीबी के जरिए हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी।

इस कार्रवाई की जानकारी मिलते ही लंबी पारिवारिक छुट्टी पर गए चंद्रबाबू एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए और यहां से अपने समर्थकों के साथ प्रजा वेदिका पहुंचे। दूसरी ओर विभागीय टीम प्रजा वेदिका को गिराने की कार्रवाई में जुटी रही।

Advertisement
Back to Top