विजयवाड़ा : तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के नेता पी. केशव ने नई सरकार पर कथित तौर पर प्रतिशोध की राजनीति करने का आरोप लगया है। एक दिन पहले ही वाईएसआर कांग्रेस के एक विधायक अल्ला रामकृष्ण रेड्डी ने कहा था कि आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और तेदेपा अध्यक्ष एन. चंद्रबाबू नायडू को उनके रिवर-साइड निवास से बाहर कर दिया जाएगा।

केशव ने कहा कि चूंकि मामला अदालत में लंबित है, इसलिए वाईएसआरसीपी विधायक की टिप्पणी अनुचित है। रेड्डी ने मंगलवार को कहा कि तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख को घर खाली करने के लिए कहा जाएगा, क्योंकि यह नदी के तल पर बनाया गया है।

2016 में जब आंध्र प्रदेश ने हैदराबाद से अमरावती में अपना प्रशासन स्थानांतरित किया, तब से नायडू कृष्णा नदी के तट पर उंदावल्ली में रह रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री 'प्रजा वेदिका' नामक घर को आधिकारिक निवास के रूप में इस्तेमाल करते हैं।

इसे भी पढ़ें :

चंद्रबाबू के आतंक से कब मिलेगी इस इलाके के लोगों को मुक्ति, जगन मोहन सरकार से बड़ी आस..!

विधायक कि टिप्पणी नायडू के सरकार को पत्र लिखने के कुछ दिन बाद आई है, जिसमें उन्होंने 'प्रजा वेदिका' को अपने इस्तेमाल में लाने देने और खुद के आधिकारिक कारणों से इसे इस्तेमाल करने का अनुरोध किया है, जिससे वह वहां पार्टी कार्यकर्ताओं से मिल सकें। नायडू को विपक्ष के नेता के रूप में अपनी क्षमता के चलते एक कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त है।