श्रीकाकुलम : सीतमपेट मंडल में पानी की तलाश में जंगल से गांव की सीमा पर आये हाथियों ने दो महिलाओं को कुचला। महिलाएं अनानस के खेतों में काम कर रही थी। जिला वन अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2007 में ओडिशा के लकेरी वन क्षेत्र से 11 हाथी श्रीकाकुलम जिले में प्रवेश कर गये।

विभिन्न कारणों से 7 हाथी मारे गये। इनमें से कुछ बिजली का शॉक लगने से मारे गये। केवल चार हाथी बचे हैं। उन्होंने कहा कि हाथियों के हमले मारी गई महिलाओं के परिजनों को वन विभाग की ओर से 5 लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें :

श्रीकाकुलम के बीच शहर में विस्फोट, 8 लोग घायल, दो की हालत चिंताजनक, देखिए वीडियो

आपको बता दें कि हाथियों के हमले में सावरा गायरम्मा और सावरा बोडेम्मा की मौत हो गई। पिछले 12 वर्षों के दौरान विजयनगरम और श्रीकाकुलम जिलों में हाथियों के हमले में मारे गये लोगों की संख्या 13 हो गई।