तिरुपति : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता चेविरेड्डी भास्कर रेड्डी ने चुनाव आयोग से चंद्रगिरि विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में लोग निडर होकर वोट डाल सके, ऐसी व्यवस्था करने की अपील की। चेविरेड्डी ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि उन्होंने चुनाव आयोग से मतदान के दिन के सीसी फूटेजों की जांच करने और ऐसा नहीं करने पर सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कही थी।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने गहन जांच के बाद ही रिपोलिंग की अनुमति दी है। उन्होंने बताया कि दलितों के लिए चुनाव आयोग के अधिकारियों से विशेष मतदान केंद्रों की व्यवस्था करने की अपील की थी। उन्होंने कहा कि पिछले 30 वर्षों से दलितों व आदिवासियों के मताधिकार का हनन किया जाता रहा है।

उन्होंने कहा कि मतदान के दिन हुई गड़बड़ी के बारे में जिलास्तरीय और केंद्रीय चुनाव अधिकारियों से शिकायत की गई थी। उन्होंने कहा, '13 अप्रैल से हम पोलिंग के दिन हुए अन्याय के खिलाफ हम संघर्ष कर रहे हैं। सात पोलिंग केंद्रों पर हुई गड़बड़ियों के बारे में शिकायत किए जाने का हवाला देते हुए उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग ने सिर्फ पांच जगहों पर रिपोलिंग की अनुमति दी गई है।

इसे भी पढ़ें :

मतगणना 2019 के मद्देनजर YSRCP के एजेंटों व उम्मीदवारों के लिए पार्टी का प्रशिक्षण शिविर शुरू

उन्होंने कहा कि 27 मतदान केंद्रों में रिपोलिंग कराने के टीडीपी नेताओं की मांग सच नहीं है। उन्होंने कहा कि रिपोलिंग के दिन मतदान केंद्रों में भी ने टीडीपी के अनुकूल वोट दिया। उन्होंने मीडिया से कहा कि अगर मेरे पैतृक गांव तुम्मलगुंटा में गड़बड़ी हुई है, तो उससे जुड़े सबूत पेश करें, तो मैं रिपोलिंग के लिए तैयार हूं।'

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री की पेशी में काम कर चुके चित्तूर जिले के जिलाधीश का रवैया चंद्रगिरी निर्वाचन क्षेत्र में पक्षपाती रहा है।