हैदराबाद : भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद बंडारू दत्तात्रेय ने तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री की कड़ी आलोचना की है। बंडारू ने कहा कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव मौका परस्ती और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू नायुडू अवसरवादी है।

बीजेपी नेता ने गुरुवार को दिल्ली में मीडिया से यह बात कही। उन्होंने आगे कहा कि तेलंगाना सरकार के पेयजल का आश्वासन केवल आश्वासन बनकर रह गया है। पालमूरु-रंगारेड्डी परियोजना के मुद्दे पर केसीआर सरकार की नीति सौतली मां जैसी है। किसानों को सिंचाई जल की आपूर्ति अब तक भी नहीं की गई है।

दूसरी ओर ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से पालमूरु और रंगारेड्डी परियोजनाओं के लागत व्यय को 39 हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर 52 हजार करोड़ रुपये किया गया है। साथ ही प्राणहिता-चेवेल्ला परियोजनाओं को कालेश्वरम परियोजना में परिवर्तित करके परियोजान के लागत व्यय को 80 हजार करोड़ किया गया। लगभग 40 हजार करोड़ रुपये खर्च किये जाने पर भी एक एकड़ को भी सिंचाई जलापूर्ति नहीं की गई है।

यह भी पढ़ें :

भाजपा अध्यक्ष ने तेलंगाना सरकार को दिया ‘श्राप’, कहा- छात्रों की लगेगी बद्दुआएं

हमारे विधायक टी राजा सिंह के साथ बहुत बुरा बर्ताव किया गया : बीजेपी

बंडारू ने आरोप लगाया है कि तेलंगाना में प्रजा धन का दुरुपयोग हो रहा है। हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार चरमसीमा पर पहुंच गया है। इंटर रिजल्ट की धांधलियों के कारण 26 छात्रों ने आत्महत्या की है।

उन्होंने सवाल किया कि तीन सदस्यों की कमेटी की रिपोर्ट सौंपने के बाद भी ग्लोबरिना संस्था के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई क्यों नहीं की गई है? साथ ही इंटर रिजल्ट की धांधलियों की जांच सिटिंग जज से कराये जाने की बीजेपी ने मांग की है। बंडारू ने भविष्यवाणी की है कि केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार फिर से सत्ता में आएगी।