अमरावती : फनी तूफान विकराल रूप लेकर तेजी के साथ तट की तरफ बढ़ रहा है। ओडिशा के पूरी के उत्तर-पूर्वी दिशा में 830 किलो मीटर और विशाखापटनम से दक्षिणपूर्व में 670 किलो मीटर की दूरी पर केंद्रित है। मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक अगले 12 घंटों में फनी के बड़े तूफान में बदल जाएगा।

उत्तर-पूर्वी दिशा में बढ़ते हुए दिशा बदलकर ओडिशा के तट की तरफ जाने वाला है। मौसम विभाग के मुताबिक फनी तूफान 3 मई के दोपहर तक ओडिशा तट की तरफ बढ़ेगा। तूफान गुजरने वाले मार्ग में प्रति घंटे 170 से 200 किलो मीटर की रफ्तार से हवाएँ चलेंगी।

फनी तुफान के प्रभाव को देखते हुए अधिकारियों ने आंध्र प्रदेश के विभिन्न बंदरगाहों पर खतरे की चेतावनी जारी कर दी है। काकीनाडा और गंगवरम पोर्ट पर पांचवी चेतावनी जारी की गई है, जबकि विशाखपटनम, मछलीपटनम, कृष्णपटनम, निजामपटनम में दूसरे नंबर की चेतावनी जारी कर दी गई है।

इसे भी पढ़ें :

आखिर कैसे पड़ा चक्रवाती तूफान का नाम ‘फनी’, जानिए इससे जुड़ी दिलचस्प बातें

फनी तूफान को लेकर कैबिनेट सचिव प्रदीप कुमार सिन्हा ने विभिन्न राज्य सरकारों के मुख्य सचिवों के साथ स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि 2 और 3 मई को आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम और विजयनगरम जिले पर फनी तूफान का असर देखा जाएगा।

तूफान के प्रभाव से ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित होने की संभावना है। मुख्य सचिव एलवी सुब्रमण्यम ने यात्रियों को किसी तरह की असुविधा ना हो, इसके लिए रेलवे बोर्ड से पानी और भोजन की व्यवस्था करने के आदेश देने को कहा।