वाईएस विवेकानंद रेड्डी हत्या मामला : हाईकोर्ट ने SIT और पुलिस को दिया यह निर्देश

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

अमरावती : पूर्व मंत्री वाईएस विवेकानंद रेड्डी हत्या मामले में आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट ने हत्या की घटना पर किसी भी तरह की बयानबाजी से परहेज करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार के महाधिवक्ता को चंद्रबाबू नायडू की तरफ से अंडरटेकिंग देने का आदेश दिया।

दूसरी तरफ, वाईएस जगन मोहन रेड्डी की तरफ से अधविक्ताओं ने अंडरटेकिंग दिया। अदालत ने कहा कि पुलिस और सिट इस मामले के संबंध में मीडिया को किसी तरह की जानकारी साझा नहीं कर सकती। बाद में अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 15 अप्रैल तक स्थगित कर दी।

आपको बता दें कि वाईएस विवेकानंद रेड्डी की हत्या की जांच के लिए राज्य सरकार द्वारा गठित सिट पर विश्वास नहीं होने का हवाला देते हुए मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की अपील करते हुए वाईएस जगन मोहन रेड्डी और वाईएस सौभाग्यम्मा ने आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है।

इसे भी पढ़ें :

YS जगन मोहन रेड्डी बने मुख्यमंत्री, पिता की थी इच्छाः सुनीता रेड्डी

अधिवक्ताओं ने बताया कि राज्य सरकार सिट के नाम पर वाईएस परिवार पर कीचड़ उछालने की कोशिश कर रही है। उन्होंने अदालत को यह भी बताया कि एपी सरकार और पुलिस के रवैयो को लेकर उन्हें संदेह हैं। उन्होंने आंध्र प्रदेश सरकार के दायरे से बाहर वाली जांच एजेन्सी से मामले की जांच सौंपने की अपील की थी।

Advertisement
Back to Top