चित्तूर : जिले के कुप्पम विधानसभा सीट से टीडीपी उम्मीदवार के रूप में नारा चंद्रबाबू नायडू की तरफ से स्थानीय टीडीपी नेताओं ने शुक्रवार को नामांकन दाखिल किया। चुनाव आयोग को सौंपे गए हलफनामे में चंद्रबाबू की कुल संपत्ति करीब 700 करोड़ रुपये दर्शायी गई है।

इसमें 19.96 करोड़ की अचल संपत्ति है, जबकि चल संपत्ति की कीमत 47 लाख 38 हजार रुपये है। चंद्रबाबू ने अपनी पत्नी नारा भुवनेश्वरी की चल संपत्ति 574 करोड़ और अचल संपत्ति 95 करोड़ बताई है।

2014 के चुनाव के दौरान चंद्रबाबू नायडू ने अपनी संपत्ति 176 करोड़ बताई थी। पिछले पांच वर्षों में उनकी संपत्ति बढ़कर 700 करोड़ हो गई है।

दूसरी तरफ, चंद्रबाबू नायडू के बेटे नारा लोकेश की संपत्ति में भी भारी इजाफा हुआ है। गुंटूर जिले के मंगलगिरि विधानसभा सीट से टीडीपी उम्मीदवार के रूप में चंद्रबाबू नायडू के बेटे नारा लोकेश ने भी शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल किया। इस मौके पर सौंपे गए हलफनामे में उन्होंने अपनी संपत्ति की कीमत 375 करोड़ रुपये बताई है, जिसमें 253 करोड़ 68 लाख की चल संपत्ती और 66 करोड़ 78 लाख रुपये की अचल संपत्ति शामिल है।

इसे भी पढ़ें :

ये है चंद्रबाबू के बड़े झूठ और उनकी जमीनी हकीकत, ऐसे खुल रही है पोल

उन्होंने राजनीतिक नेता के तौर पर समाज सेवा के लिए समर्पित होने के कारण मिलने वाले वेतन और भत्ते को ही अपने आय का स्रोत बताया है। लोकेश की पत्नी ब्राह्मणी को उद्योपति बताते हुए उनकी अचल संपत्ति 18.74 करोड़ और चल संपत्ति 14 करोड़ 40 लाख बताया है। लोकेश ने अपने बेटे देवांश के नाम पर 16.17 करोड़ की अचल संपत्ती और 3.88 करोड़ रुपये की चल संपत्ति बताई है।