हैदराबाद : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने वाईएस विवेकानंद रेड्डी की हत्या के पीछे आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू नायडू, उनके मंत्री पुत्र नारा लोकेश तथा मंत्री आदि नारायण रेड्डी का हाथ होने का आरोप लगाया है।

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के महासचिव वी. विजय साई रेड्डी ने कहा कि सत्तारूढ़ तेलुगु देशम पार्टी वाईएसआर परिवार को खत्म करने की साजिश रची है और 1998 से टीडीपी वाईएसआर के परिवार को टारगेट बनाती रही है। उन्होंने कहा कि आदि नारायण रेड्डी ने वाईएस विवेकानंद रेड्डी की हत्या का स्कैच डाला था।
इसे भी पढ़ें :

YS विवेकानंद रेड्डी की हत्या की पुष्टि, जानिए पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या मिला

उन्होंने कहा कि दिवंगत वाईएसआर के पिता राजा रेड्डी की हत्या में भी टीडीपी का हाथ रहा। यही नहीं, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष वाईएस जगन मोहन रेड्डी पर विशाखापट्टणम हवाई अड्डे पर जानलेवा हमला किया गया। इन सारी घटनाओं को देखकर यह स्पष्ट होता है कि टीडीपी ने वाईएसआर के परिवार का अंत करने की योजना बनाई है।

उसी दिन रची गई वाईएस विवेकानंद रेड्डी की हत्या की साजिश

इस बीच, पार्टी के नेता वेल्लमपल्ली श्रीनिवास ने कहा कि वाईएस जगन मोहन रेड्डी से नहीं जीत पाने के कारण ही चंद्रबाबू हत्या की राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वाईएस विवेकानंद रेड्डी ने गुरुवार को जम्मलमडुगु में चुनाव प्रचार कर रात में घर लौटे थे। उन्होंने कहा कि टीडीपी ने जब आदिनारायण रेड्डी को कड़पा लोकसभा सीट के लिए उम्मीदवार घोषित किया, तभी विवेकानंद रेड्डी की हत्या के लिए बीज बोई गई।

उन्होंने कहा कि इससेपहले वाईएस जगन की हत्या करने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि सिट पर भरोसा नहीं है, क्योंकि सिट केवल चंद्रबाबू नायडू के इशारे पर काम करती है। उन्होंने वाईएस विवेकानंद रेड्डी की हत्या की जांच सीबीआई से कराने की मांग की।