न्यूयॉर्क : भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले के साथ अमेरिकी कांग्रेस के नेताओं की मुलाकात के दौरान अमेरिकी आव्रजन अधिकारियों ने भारतीय विद्यार्थियों को हिरासत में लेने के मुद्दे पर भी चर्चा की।

रिप्रेंजेटेटिव टॉम सुओजी ने ट्वीट किया कि सोमवार को बैठक के दौरान उन लोगों ने आव्रजन मुद्दों पर चर्चा की और उन्होंने खुद आव्रजन अधिकारियों द्वारा हिरासत में लिए गए तेलुगू छात्रों के बारे में सभी से सहायता मांगी।

बैठक एक डेमोक्रेट नेता ब्रैड शेरमैन के वाशिंगटन कार्यालय में हुई, जो एशिया, प्रशांत और अप्रसार पर प्रतिनिधि सभा की उपसमिति के अध्यक्ष हैं।

गौरतलब है कि फरवरी में आव्रजन अधिकारियों ने 129 छात्रों को हिरासत में लिया था। उनमें से ज्यादातर तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के थे, जिन्होंने एक फर्जी विश्वविद्यालय में दाखिला लिया था। अधिकारियों ने वीजा के दुरुपयोग के खिलाफ एक स्टिंग ऑपरेशन किया था।

इसे भी पढ़ें :

अमेरिका के टेक्सास में तेलुगु दंपती की संदेहास्पद मौत

अधिकारियों का आरोप है कि इन छात्रों ने यह जानते हुए भी संस्थान में प्रवेश लिया था कि यह कक्षाएं नहीं लगाता था, बल्कि केवल वीजा सुविधा पाने के लिए इसका उपयोग किया जाता था।

डेमोक्रेट नेता सुओजी ने ट्वीट किया, "अगले 50 वर्षों के दौरान अमेरिका और भारत के बीच संबंध अमेरिका (इच्छा) के सबसे महत्वपूर्ण संबंधों में से एक रहने वाला है।"

शेरमैन ने ट्वीट किया कि उन्होंने भारत-पाकिस्तान संबंधों और अमेरिका-भारत व्यापार में अमेरिकी भूमिका पर चर्चा की।

गोखले मंगलवार को वाशिंगटन में राजनीतिक मामलों के अवर सचिव डेविड हेल के साथ भारत-अमेरिका रणनीतिक वार्ता में शामिल हुए।