देशभर में लोकसभा चुनाव खत्म हो चुका है। इस बार राज्य में वाईएसआरसीपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। आंध्र प्रदेश की अनकापल्ली लोकसभा सीट पर वाईएसआरसीपी ने जीत दर्ज की है। यहां से डा. बी वेंकट सत्यवती को वाईएसआरसीपी ने अपना कैंडिडेट बनाया था। इस सीट पर वे अपनी पार्टी को जीत दिलाने में कामयाब हुए हैं। उन्होंने टीडीपी के कैंडिडेट अदारी आनंद कुमार को 89,112 वोटों से शिकस्त दी है।

शारदा नदी के तट पर बसे अनकापल्ली को विशाखापट्टनम का एक उपनगर कहा जाता है। इस क्षेत्र पर कलिंगा साम्रज्य के अलावा शातवाहन, चेदि साम्राज्य, गंग वंश, काकतीय और कुतुब वंश के शासकों ने भी शासन किया। यहां सबसे महत्वपूर्ण बौद्ध स्थल साकाराम, सब्बावरम, लिंगमामेट्टा हैं। यहां स्तूप और गुफाओं पर बुद्ध के कई चित्र मिलते हैं। यह देश का दूसरा सबसे बड़ा गुड़ बाजार है। यहां प्रसिद्ध स्टील मिल वेलगापुडी भी है।

इस सीट पर 1962 में पहली बार चुनाव हुए, जिसमें कांग्रेस के टिकट पर एम.एस. मूर्ती ने चुनाव जीता। अनकापल्ली के वर्तमान सांसद मुत्तमशेट्टी श्रीनिवास ने 2014 के लोकसभा चुनाव में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार गुरन्नाध अमरनाथ को 47,932 वोट से हराया था। अनकापल्ली लोकसभा सीट की कुल जनसंख्या 18,24,488 हैं, जिसमें ग्रामीण आबादी 82.71 और शहरी आबादी 17.29 फीसदी है। यहां कुल मतदाताओं की संख्या 14,01,474 है पुरुष मतदाताओं की संख्या 6,89,132 है जबकि महिला वोटरों की संख्या 7,12,342 है।

अनकापल्ली लोकसभा सीट के अंतर्गत विधानसभा सीटें

दक्षिण भारत के राज्य आंध्र प्रदेश की अनकापल्ली लोकसभा सीट के अंतर्गत सात विधानसभा सीटें आती हैं। इसमें चोड़ावरम, मेडुगुला, अनकापल्ली ,पेंदुर्ति, येलमंचिली, पायकरावपेट और नरसीपट्टणम प्रमुख हैं। इनमें से छह सीटें सामान्य और पेन्दुर्ति सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं।

मुत्यमशेट्टी श्रीनिवास राव 
मुत्यमशेट्टी श्रीनिवास राव 

सांसद का रिपोर्ट कार्ड...

अनकापल्ली सीट से सांसद मुत्तमसेट्टी श्रीनिवास राव के सासंद के तौर पर कार्यकाल की बात की जाए तो दिसंबर 2018 तक उनकी लोकसभा में उपस्थिति 83 फीसदी रही। श्रीनिवास राव ने लोकसभा मे करीब 339 सवाल पूछे और सदन की 73 बहसों में हिस्सा लिया। 51 साल के टीडीपी नेता और सांसद मुत्तमसेट्टी श्रीनिवास राव अशिक्षित हैं

1980 के बाद के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो दोनों ने 5-5 बार यहां से चुनाव जीता है. वाईएसआर कांग्रेस की मौजूदगी की वजह से यहां त्रिकोणीय चुनाव की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। अब देखना होगा कि जनता किस पार्टी पर भरोसा जताती है।

अनकापल्ली लोकसभा सीट से जीते सांसद व उनकी पार्टी

1962 में कांग्रेस के मिस्सुला सत्यनारायण मूर्ति ने निर्दलीय उम्मीदवार वी.वी. रमणा को 16010 वोट से हराया

1967 में कांग्रेस के मिस्सुला सत्यनारायण मूर्ति ने निर्दलीय उम्मीदवार वी.वी. रमणा को 3204 वोट से हराया

1971 में कांग्रेस के एस.आर.ए.एस अप्पला नायडू ने निर्दलीय उम्मीदवार 146094 वोट से हराया

1977 में कांग्रेस के एस.आर.ए.एस अप्पला नायडू ने बीएलडी के पी.वी. चलपति राव को 35936 वोट से हराया

1980 में कांग्रेस (आई) के एस.आर.ए.एस अप्पला नायडू ने जनता (एस) के पी. आनंद गजपतिराजू को 29123 वोट से हराया

1984 में टीडीपी के पी. अप्पला नरसिम्हम ने कांग्रेस के कांग्रेस के एस.आर.ए.एस अप्पला नायडू को 174816 वोट से हराया

1989 में कांग्रेस के कोणताला रामकृष्णा ने टीडीपी के पी. अप्पला नरसिम्हम को 9 वोट से हराया

1991 में कांग्रेस के कोणताला रामकृष्णा ने टीडीपी के पी. अप्पला नरसिम्हम को 11158 वोट से हराया

1996 में टीडीपी के सी.एच. अय्यना पात्रुडू ने कांग्रेस के कोणताला रामकृष्णा को 50172 वोट से हराया

1998 में कांग्रेस के गुड़िवाड़ा गुरुनाध राव ने टीडीपी के सीएच अयन्ना पाक्षुडु को 25925 वोट से हराया

1999 में में टीडीपी के गंटा श्रीनिवास राव ने कांग्रेस के गुड़ीवाड़ा गुरुनाधराव को 58464 वोट से हराया

2004 में टीडीपी के पी. चलपति राव ने कांग्रेस के गंधम नंदगोपाल को 15414 वोट से हराया

2009 में कांग्रेस के सब्बम हरि ने टीडीपी के एन. सूर्यप्रकाश राव को 52912 वोट से हराया

2014 में टीडीपी के एम. श्रीनिवास राव ने वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के जी. अमरनाध को 47932 वोट से हराया