अमरावती : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री व टीडीपी प्रमुख नारा चंद्रबाबू नायडू पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री और उनके बेटे की देखरेख में चल रही भ्रष्ट सरकार को राज्य के लोग जल्द ही सबक सिखाएंगे।

उन्होंने चंद्रबाबू पर पोलावरम से लेकर अमरावती तक सभी में अनेक धोखाधड़ियों को अंजाम देने का गंभीर आरोप लगाया और कहा कि भ्रष्ट्रचार के मामले में चंद्रबाबू नायडू सबसे सीनियर हैं। केंद्र से ली गई राशि का हिसाब-किताब मांगने की वजह से बाबू की नींद उड़ने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि बाबू अब हार का डर और मुझे चौकीदार के रूप में देखकर परेशान हैं।

गुंटूर जिले में केंद्रीय राशि से शुरू किए गए कुछ विकास कार्यक्रमों का उद्घाटन करने के बाद मोदी ने चंद्रबाबू नायडू से पूछा कि आखिर वह किस मामले में खुद को सबसे सीनियर बताते हैं। चंद्रबाबू और लोकेश के भ्रष्टाचार और धांधलियों तथा टीडीपी सरकार के कामकाज को लेकर जमकर बरसे। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की राशि से शुरू किए गए कार्यों पर चंद्रबाबू अपने स्टिकर लगाकर खुद का प्रचार कर रहे हैं।

पीएम ने कहा कि आंध्रप्रदेश में बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने का वादा कर चुके चंद्रबाबू बाद में इस मामले में यू टर्न लेकर अपनी खुद की संपत्ति बढ़ाने में जुट गए हैं। अमरावती का अद्भूत निर्माण का दावा कर चुके बाबू अब दिनों-दिन ढह रही अपनी पार्टी का निर्माण करने में लगे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि एनटीआर से पार्टी छीन चुके व्यक्ति अपनी गलतियों को छिपाने के लिए बाबू दूसरों पर बरस रहे हैं। उन्होंने कहा कि सच्चाई छिपाने के लिए एक मुख्यमंत्री के बार-बार झूठ बोलने का मतलब उन्होंने गलती की है। उन्होंने कहा कि अपनी राजनीतिक जरूरतों के लिए अब तक जनता के धन का दुरुपयोग कर चुके सभी लोगों ने अब महागठबंधन बनाया है और उसमें बाबू भी शामिल है। मोदी ने कहा कि बाबू कह रहे हैं कि मुझे संपत्ति जुटाना नहीं आता। बाबू का यह आराप बिल्कुल सच है, क्योंकि मुझे उनकी तरह व्यक्तिगत संपत्ति जमा करना नहीं आता।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र की तरफ से पिछले 55 महीनों में आंध्र प्रदेश के लिए राशि आवंटित करने में किसी तरह की कोताई नहीं बरती गई है, लेकिन यहां की सरकार लोगों को केंद्र से मिली राशि का ब्यौरा नहीं दे रही है। यही नहीं, केंद्रीय राशि का सही उपयोग नहीं किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें :

चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश की संस्कृति को डूबो दिया: PM मोदी

उन्होंने कहा कि लोगों की मनोभावनाओं की अनदेखी कर आंध्र प्रदेश का विभाजन कर चुकी कांग्रेस के हारने और 2014 में भाजपा सरकार बनने के बाद एपी के लिए विशेष दर्जे की समान राशि पहुंचाने के लिए हमने विशेष पैकेज तैयार की है। सितंबर 2016 में केंद्र के स्पेशल पैकेज की घोषणा करते ही चंद्रबाबू ने खुशी से केंद्रीय मंत्री का अभार भी व्यक्त किया था। विधानसभा में धन्यवाद प्रस्ताव तक पारित किया गया।

उन्होंने कहा कि केंद्र के विभिन्न मंत्रालयों के जरिए आंध्र प्रदेश को विभिन्न परियोजनाओं के लिए तीन लाख करोड़ रुपये दिये जा चुके हैं। इसमें केंद्रीय शिक्षण संस्थान, विकास योजनाएं भी शामिल हैं। तिरुपति में आईआईटी अनंतपुर में केंद्रीय विश्वविद्यालय, मंगलगिरि में एम्स, वैजाग-चेन्नई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर, तीन नए हवाई अड्डों का विस्तार, मेट्रो रेल आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि राज्य पुनर्गठन कानून के मुताबिक ये परियोजनाएं 10 साल में पूरी होनी चाहिए, लेकिन हमारी सरकार ने उससे काफी पहले पूरी कर दी है।