नयी दिल्ली : तेदेपा प्रमुख एवं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू एक फिर प्रदेश के लोगों को गुमराह करने पर तुले है। इसी क्रम में चंद्रबाबू राज्य को विशेष दर्जा दिलाने और राज्य पुनर्गठन अधिनियम 2014 के तहत केंद्र द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर सोमवार को दिल्ली में एक दिन की भूख हड़ताल पर बैठेंगे।

गौरतलब है कि तेदेपा राज्य के बंटवारे के बाद आंध्र प्रदेश से किए गए अन्याय का विरोध करते हुए पिछले साल भाजपा नीत राजग से बाहर हो गई थी। तब से चंद्रबाबू नायुडू बीजेपी सरकार कड़ी आलोचना कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:

‘चौकीदार’ ने आंध्र के CM चंद्रबाबू नायुडू की रात की नींद उड़ा दी है : मोदी

“चंद्रबाबू नेता कम और स्वार्थ की राजनीति पर दे रहे हैं अधिक ध्यान”

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि नायडू सोमवार को सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक आंध्र भवन में भूख हड़ताल पर बैठेंगे। मुख्यमंत्री चंद्रबाबू 12 फरवरी को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को प्रदेश की समस्याओं को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपेंगे।

मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों, पार्टी के विधायकों, एमएलसी और सांसदों के साथ धरना देंगे। राज्य कर्मचारी संघों, सामाजिक संगठनों और छात्र संगठनों के सदस्य भी इसमें शामिल होंगे।