विजयवाडा : सीपीएस नीति को समाप्त और पूरानी पेंशन नीति को लागू करने की मांग के समर्थन में कर्मचारी और शिक्षक संगठनों के नेतृत्व में आहूत 'चलो असेंबली' कार्यक्रम के चलते आंध्र प्रदेश में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। पुलिस ने 13 जिलों से चलो असेंबली कार्यक्रम में भाग लेने आ रहे कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है।

स्थानीय यूटीएफ कार्यालय के सामने भारी संख्या में पुलिस को तैनात किया गया है। पुलिस ने कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि यदि कोई कर्मचारी कार्यालय से बाहर आने की कोशिश करते हैं तो उसे गिरफ्तार किया जाएगा। आईडी कार्ड देखने के बाद ही विधानसभा और सचिवालय में वाहनों को अंदर छोड़ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:

आंध्र प्रदेश में उच्च न्यायालय के बनने पर चंद्रबाबू को क्या तकलीफ है?

चंद्रबाबू बढ़ा रहे हैं आंध्र प्रदेश के लोगों पर ऋण भार: सी रामचंद्रय्या

आईडी कार्ड दिखाने के बाद अंदर जाते हुए कार्मचारी
आईडी कार्ड दिखाने के बाद अंदर जाते हुए कार्मचारी

दूसरी ओर विभिन्न जिलों से चलो असेंबली कार्यक्रम में भाग लेने आ रहे कर्मचारियों को ‘अनुमति नहीं है, कहते हुए पुलिस ने बस स्टेशनों और रेलवे स्टेशनों में गिरफ्तार किया है। लगभग 25 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है।

वाहनों की तलाशी करतीहुई पुलिस
वाहनों की तलाशी करतीहुई पुलिस

गिरफ्तार किये गये कर्मचारी सरकार के विरोध में नारेबाजी की है। इसके अलावा प्रदेश भर में वाहनों की तलाशी जारी है।

कर्मचारियों की आईडी कार्ड देखते हुई पुलिस
कर्मचारियों की आईडी कार्ड देखते हुई पुलिस

आपको बता दें कि ये कर्मचारी सीपीएस नीति को समाप्त करके और पूरानी पेंशन नीति को लागू करने की मांग कर रहे हैं। साथ ही विधानसभा में सीपीएस को समाप्त करने के प्रस्ताव पारित करने, एनएसडीएल रिकवरी को रोकने और 653 व 655 जीओ को समाप्त करने की मांग कर रहे हैं।