रिपोर्ट में खुलासा : महापुष्कर में इस गलती से चली गई 27 श्रद्धालुओं की जान 

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

विजयवाड़ा : वर्ष 2015 में गोदावरी पुष्कर के दौरान राजमंड्री में हुई भगदड़ का कारण तीर्थ स्नान के लिए मुहूर्त के व्यापक प्रचार बताया गया है। घटना की जांच के लिए नियुक्त सोमयाजुलू आयोग द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट को सरकार ने आज विधानसभा के समक्ष रखा।

वर्ष 2015 में 144 साल के बाद महापुष्कर होने के प्रचार पर भरोसा कर श्रद्धालुओं की बड़ी संखया में एकसाथ पहुंचने से यह भगदड़ मची थी। आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक अखबारों व चैनलों पर बार-बार तीर्थ स्नान का मुहूर्त का व्यापक प्रचार ही घटना की मुख्य वजह है।

इसे भी पढ़ें :

पोते संग पोलावरम का सैर सपाटा करने पहुंचे चंद्रबाबू, परिवार के साथ करवाया फोटो सेशन

रिपोर्ट में कहा गया है कि एक ही मुहूर्त पर तीर्थ स्नान करने का नियम कहीं भी नहीं है, लेकिन अखबार और चैनलों ने मुहूर्त के महत्व का व्यापक प्रचार करके लोगों में अंधविश्वास जगाया और सरकार को गुमराह किया है।

Advertisement
Back to Top