नयी दिल्ली : केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन (एनआईडी) अधिनियम 2014 में संशोधन को मंजूरी प्रदान कर दी। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में हुई केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन (एनआईडी) एक्‍ट, 2014 के दायरे में चार संस्‍थान नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अमरावती/विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश), नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, भोपाल (मध्‍य प्रदेश), नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन जोरहाट (असम) और नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, कुरूक्षेत्र (हरियाणा) को लाने और उन्‍हें नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद की तरह राष्ट्रीय महत्व का संस्थान घोषित करने के लिए उक्त अधिनियम में संशोधन करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।

इसे भी पढ़ें :

केंद्रीय कैबिनेट में पेट्रोल-डीजल पर चर्चा नहीं, इथेनॉल के दाम में 25% का इजाफा

इस उद्देश्य से संसद में एक विधेयक लाने को मंजूरी दी गई है। प्रस्‍तावित संशोधनों में एनआईडी विजयवाड़ा का नाम बदलकर एनआईडी अमरावती करना शामिल है। साथ ही इस विधेयक में प्रिंसिपल डिजाइनर के पद को प्रोफेसर के समतुल्‍य करने का भी प्रस्‍ताव है।